लाल हकीक रत्न के फायदे – Lal Hakik Ratna Ke Fayde

लाल हकीक रत्न के फायदे – Lal Hakik Ratna Ke Fayde

लाल हकीक रत्न के फायदे (lal hakik ratna

Mhl ke fayde)

लाल हकीक रत्न के फायदे(lal hakik ratna ke fayde)– यदि कोई ऐसा व्यक्ति है, जो अपने कार्य का निर्वहन पूर्ण रुप से करने में सक्षम है, या दैनिक दिनचर्या के कार्यों को करने के लिए भी उसे आलस्य होता है, या उसे महसूस होता है, कि उसमें उपयुक्त ऊर्जा नहीं है, जिसके कारण वह अपने दैनिक दिनचर्या के कार्यों को भी पूर्ण नहीं कर सकता है। ऐसी स्थिति में लाल हकीक रत्न को धारण करना उसके लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो सकता है, इससे उसके पराक्रम में वृद्धि होती है, तथा उसे

इसे भी पढ़ें :- ओपल रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और धारण करने की विधि ? 

पुंस्त्व शक्ति की प्राप्ति होती है, तथा धीरे-धीरे उसके कार्य प्रणाली में सुधार देखने को मिलते हैं, तथा अपने कार्यों के प्रति वह पूर्ण जिम्मेदारी के साथ आगे बढ़ने लगता है। यदि कोई बच्चा अपने गृह कार्य को करने में असफल रहा है, या कोई ग्रह गृह कार्य को करने में असफल रह रहा है, या कोई गृहिणी अपने दायित्व का निर्वाहन नहीं कर पा रही है, चाहे कारण जो भी हो या कोई कार्य क्षेत्र में संलग्न व्यक्ति अपने कार्यों के प्रति सही तरह के पारस्परिक क्रियाकलाप से वंचित रह जा रहा है।

या कोई व्यक्ति विशेष जो अपने किसी भी कार्य को चाहे वह पढ़ाई लिखाई हो या कामकाज हो वह पूर्ण रुप से अच्छी तरह से करने में असफल महसूस कर रहा है, तो उसे लाल हकीक रत्न को अभिमंत्रित कर अवश्य धारण करना चाहिए। इससे उद्यम गुन की प्रचंडता बढ़ती है, तथा ऊर्जा से संबंधित किसी भी तरह के विकार भी धीरे-धीरे ठीक होने लगते हैं एवं व्यक्ति के अंदर अच्छे बदलाव आने लगते हैं।

लाल हकीक रत्न के फायदे (lal hakik ratna ke fayde)

यदि किसी व्यक्ति की लग्न कुंडली में मंगल की स्थिति सही नहीं है, तो ऐसे में मंगल के द्वारा कई प्रकार के नकारात्मक प्रभाव व्यक्ति के जीवन एक जीता जागता नर्क के समान बना देती है, जिसके कारण व्यक्ति परिस्थितियों के फेड़ में ऐसा फस जाता है, की सभी दिशाएं उसे एक समान प्रतीत होने लगती है। व्यक्ति के निजी जीवन में कई प्रकार की समस्याएं आने लगती हैं, जिनका सामना करते करते व्यक्ति थक जाता है, किंतु समस्याएं कम होने का नाम नहीं लेती है। कई बार तो ऐसा भी देखा जाता है, कि व्यक्ति के जीवन में समस्याएं तो आती ही है।

इसे भी पढ़ें :- ओपल रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और धारण करने की विधि ? 

उसके साथ-साथ बीमारियां भी आने लगती है। कई प्रकार के रक्त से संबंधित विकार होने लगते हैं। मिर्गी, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारी, पथरी, कुष्ठ रोग त्वचा से संबंधित बहुत ही गंभीर बीमारियां होने लगती है, जिससे व्यक्ति के व्यक्तित्व का आवरण नकारात्मक रूप से प्रभावित होने लगता है। हर ओर उसे नकारात्मक भाव नजर आने लगते हैं। उसे पता तो है, कि उसके जीवन में चल क्या रहा है, किंतु वह से दूर कैसे करना है।

या उसके प्रति कैसे कार्य करें कि वह उस पर नियंत्रण पा ले इन सभी चीजों से अनभिज्ञ रहता है, तो ऐसी स्थिति से कोई भी व्यक्ति विशेष चाहे वह किसी भी आयु वर्ग का क्यों ना हो गुजर रहा है तो वह बिना किसी ज्योतिषीय सलाह के भी लाल हकीक रत्न को धारण कर इसके लाभ को प्राप्त कर सकता है तथा धरतीपुत्र मंगल से संबंधित किसी भी तरह के दिए जाने वाले विकारों पर पूर्ण रूप से नियंत्रण प्राप्त कर सकता है।

लाल हकीक रत्न के फायदे (lal hakik ratna ke fayde)

मंगल एक उग्र ग्रह के रूप में माना जाता है। इसकी खराब दृष्टि व्यक्ति के आवरण में नकारात्मक बदलाव लेकर आते हैं, जिससे व्यक्ति बहुत अधिक क्रोधित प्रवृत्ति का होने लगता है। वह किसी भी तरह के बाद के प्रति बहुत तेजी से नकारात्मक प्रतिक्रिया देता है, जिसके कारण दिनों दिन वह दलदल में फंसता चला जाता है। उसके जीवन में अशुभ योगों की संख्या बढ़ने लगती है, तथा शुभ योगों की संख्या घटने लगती है। मंगल की स्थिति उसे कई खराब परिस्थितियों में फंसा कर रख देती है। उसके कई ऐसे कार्य जो पूर्ण होते होते बिगड़ने लगते हैं।

इसे भी पढ़ें :- पेरिडॉट स्टोन के लाभ जानकर हो जाएंगे हैरान

ऐसा भी देखा जाता है, कि लोग अपने क्रोध में अपना ही सर्वनाश कर लेते है, जिसका खामियाजा केवल उनको ही नहीं बल्कि उनसे संबंधित कई लोगों को भी भुगतना पड़ता है, पारिवारिक रिश्तो में दरार आने लगती है। कई बार तो ऐसा भी देखा जाता है, कि जातक की क्रोध की प्रवृत्ति के कारण ना वह व्यक्तिगत जीवन में अच्छे से रह पाता है, और ना ही बाहरी जीवन के अच्छे आनंद को प्राप्त कर पाता है। कभी-कभी समस्याएं इतनी बढ़ जाती है, कि वह विभिन्न पक्षों में स्वयं को अकेला ही पाता है, ना उसके भाई से रिश्ते अच्छे रहते हैं, ना बहन से रिश्ते अच्छे रहते हैं।

ना माता से ना पिता से किसी से भी उसे प्रेम प्राप्त नहीं होता है। कभी-कभी तो उसका जीवन साथी भी उसे छोड़ कर चला जाता है। मंगल की नकारात्मकता के कारण विवाह विच्छेद जैसी भी स्थिति व्यक्ति को देखनी पड़ती है। कई प्रकार की गलत आदतें उसके व्यक्तित्व को पूर्ण रूप से क्षति पहुंचा देती है। जिससे संभलने में वह असफल रहता है। कई बार तो समस्याएं इतनी अधिक बढ़ जाती है कि जातक को कोर्ट कचहरी जेल जैसी चीजों का भी सामना करना पड़ जाता है। ऐसे स्थिति से बचने के लिए व्यक्ति विशेष को लाल हकीक रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है।

लाल हकीक रत्न के फायदे (lal hakik ratna ke fayde)

इससे उसके मन मस्तिष्क की रेखाएं शांत अवस्था में जाती हैं, जिससे वह किसी भी तरह के वस्तुओं के प्रति प्रतिक्रिया देने से से पूर्व अपनी बातों का अवलोकन अवश्य कर लेता है, या किसी भी तरह का कार्य का प्रयोग करने से पूर्व उसके द्वारा बारीकियों से विभिन्न पहलुओं पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में निरीक्षण किया जाता है, जिससे व्यक्ति अपने व्यक्तिगत जीवन में तो सफल होता ही है।

इसे भी पढ़ें :- स्फटिक शिवलिंग का महत्व क्या है जानिए

इसके साथ-साथ सामाजिक दृष्टिकोण से भी वह सफल माना जाता है। दांपत्य जीवन की सुखो कि सैया पर भाव विभोर प्रेम को प्राप्त करता है। पारिवारिक रिश्तो में भी अच्छे फल उसे प्राप्त होते हैं। अपने लोगों के प्रेम तत्व की प्राप्ति उसे होती है। कुल मिलाकर उसके घर परिवार के लोग उसके हर परिस्थिति में साथ होने लगते हैं। जिससे उसके जीवन में अच्छे सुधार आने लगते हैं।

लाल हकीक रत्न धारण करने से व्यक्ति के धैर्य क्षमता में वृद्धि होती है। उसके कार्य प्रणाली में सुधार होता है। उसे मानसिक शांति की प्राप्ति होती है, तथा शारीरिक कष्टों का निवारण होता है। यह उसे अपने भूमि मकान प्राप्त करने के अच्छे योगों को प्रदान करता है। मंगल की प्रबलता के कारण गुप्त शत्रु हो या प्रत्यक्ष शत्रु सभी समाप्त होने लगते हैं। यह व्यक्ति के प्रत्येक भाव में शुभ फल प्रदान करता है।

मित्रों यदि आप अभिमंत्रित किया हुआ लाल हकीक रत्न प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से प्राप्त कर सकते है हमारे यहा लाल हकीक रत्न मात्र 100 रु रत्ती मिल जाएगा, साथ में आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी कार्ड साथ में दिया जाएगा मंगवाने के लिए – Call and Whatsapp -7567233021

 

Leave a Reply