नीलम रत्न पहनने से क्या होता है – Neelam Ratna Pahanne Se Kya Hota Hai

नीलम रत्न पहनने से क्या होता है – Neelam Ratna Pahanne Se Kya Hota Hai

 

 नीलम रत्न पहनने से क्या होता है -Neelam

 Ratna Pahanne Se Kya Hota Hai

नीलम रत्न (Neelam ratna pahanne se kya hota hai in hindi) पहनने से क्या होता है? लोगों के मन में ऐसे विचार नीलम रत्न धारण करने से पूर्व आते हैं। वह भी जाना चाहते हैं, आखिर इस रत्न के धारण से उनकी जीवन में क्या-क्या बदलाव आ सकते हैं? किन-किन चीज़ों में यह रत्न अपना प्रभाव दिखाएगा आगें की जिंदगी कैसी रहेगी?

ज्योतिष मान्यताओं एवं रत्न शास्त्र के अनुसार नीलम रत्न शनि ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है, तथा उससे संबंधित चीजों में इस रत्न का उपयोग किया जाता है, नीलम रत्न को धारण करने के अनगिनत लाभ है, किंतु यह ध्यान रखना आवश्यक है, कि आपके द्वारा लिया जा रहा नीलम रत्न (Neelam ratna ke fayde in hindi)प्राकृतिक रुप से उपलब्ध हो अन्यथा आप उसके होने वाले लाभ से वंचित रह जाएंगे विभिन्न पैमानों के जांच के आधार पर हम यह जान पाएंगे कि हमारे द्वारा खरीदा जा रहा नीलम रत्न प्राकृतिक है, अथवा कृतिम है-

इसे भी पढ़े:- मोती रत्न के लाभकारी फायदे 

प्राकृतिक रुप से उपलब्ध नीलम रत्न में गजब की आकर्षण शक्ति होती है, या देखने बहुत ही चमकीला अद्भुत होता है, इससे नीला वर्ण की रौशनी निकलती है, जब इसे हम सूर्य अथवा चंद्र की रौशनी में देखते हैं, तब हमें इससे एक समान नीली रौशनी उत्शर्जित होते हुए प्रतीत होती है, इसकी रोशनी बहुत ही मनमोहक होती है, प्राकृतिक रुप से उपलब्ध नीलम रत्न का घनत्व बहुत अधिक होता है, जबकि कृतिम रुप से निर्मित नीलम रत्न (Neelam ratna ke fayde) का घनत्व बहुत कम होता है, भले ही यह देखने में आकार में बहुत बड़ा दिखे, किंतु इसका बचत प्राकृतिक रुप से पाए जाने वाले नीलम रत्न से बहुत कम होता है, नीलम रत्न में प्राकृतिक रुप से बहुत से जाले एवं दाग मौजूद रहते हैं, जबकि कृतिम रुप से निर्मित नीलम रत्न पूरी तरह से पारदर्शी होता है, ऐसा माला जाता है, कि यदि नीलम शुद्ध है, तो वह दूध का रंग भी नीला कर सकता है।

नीलम रत्न (Neelam ke fayde) को शनि ग्रह से संबंधित रत्न माना जाता है, तथा शनि ग्रह के द्वारा दी जा रही विभिन्न दशा, महादशा शनि की ढैया, शनि की साढ़ेसाती एवं उसके वक्री दृष्टि आदि में नीलम रत्न किसी के द्वारा धारण किया जाता है, तो नीलम रत्न किसी रामबान से कम काम नहीं करता है।

ज्योतिष विज्ञान में सबसे अधिक लोगों को डर शनि ग्रह से होता है, लोग शनि ग्रह को लेकर अपने मन में विभिन्न प्रकार की भ्रांतियां पाले हुए हैं, जिसकी वजह से इसे एक मारक ग्रह के नाम से भी संबोधित किया जाता हैl दुख ,पीरा ,कष्ट, बीमारी आदि का कारक भी शनि ग्रह को माना जाता है, किंतु शनि ग्रह केवल आपके या मेरे कर्मों का हिसाब करते हैं।

इन्हें हमारे बाकी चीजों से कोई प्रभाव नहीं पड़ता है, लेकिन हमारे कर्म इनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जो चीज हमें भाग्य नहीं दिला सकता वह चीजें हमें शनि की कृपा प्राप्ति यदि हो जाए तो आसानी से प्राप्त हो सकती हैl यह हमारे जितनी भी महत्वकांक्षाएं होती है, सब को पूर्ण करने में सक्षम होते हैं, बशर्ते कि हमारी कर्म अच्छे हो अन्यथा इन की कुदृष्टि या वक्र दृष्टि आपको बर्बाद करने में भी कोई कसर नहीं छोड़ता है।

इन्हें स्वयं तीनों लोकों के स्वामी भोले नाथ भोले भंडारी का वरदान प्राप्त है, कि इनके दंड के दायरे या न्याय के दायरे से देवता हो या गण हो इंसान हो या राक्षसों कोई भी नहीं बच सकता है, इन्हें तीनों लोगों का न्यायाधीश एवं दंडाधिकारी होने का वरदान प्राप्त है।

इसे भी पढ़े:- पन्ना रत्न पहनने का मंत्र

यह जब चाहे किसी के किस्मत को पलट सकते हैं, और आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इनके द्वारा दिए जा रहे फलों को आप जन्म जन्मांतर तक भोंगते हैं, मतलब यदि आपने इस जन्म में यदि किसी को प्रताड़ित किया है, या किसी को बिना वजह परेशान किया है, या आपके द्वारा किसी भी प्रकार के खराब कर्म किए गए हैं, तो उसका अर्थ यह है, कि आप के जब तक बुरे कर्मों का फल यह नहीं दे लेते है, तब तक जन्मो- जन्मो तक यह ग्रह की आपके ऊपर कुदृष्टि ऐसे ही बनी रहेगी, चाहे आप जितनी भी जन्म ले ले इनसे बचना नामुमकिन है, किंतु फिर भी सृष्टि सृजन हार, पालनहार हम लोगों से बहुत प्रेम करते हैं, शायद यही कारण है, कि उनके द्वारा नीलम रत्न (Neelam stone ke fayde) को रचा गया ताकि शनि ग्रह के दुष्प्रभाव को कम किया जा सके, नीलम रत्न के लाभ कुछ इस प्रकार से हैं-

1.जिस भी जातक के द्वारा नीलम रत्न (Neelam ratna pahanne ke labh)धारण किया जाता है, तो उसके व्यक्तित्व में एक अजीब आकर्षण देखने को मिलता हैl नीलम रत्न बहुत सी गुप्त शक्तियों का स्वामी होता है, ऐसे में जातक के अंदर अजीब सी एवं गुप्त ऊर्जा का संचार होता हैl

2. नीलम रत्न (Neelam Ratna Pahanne Se Kya Hota Hai) को धारण करने वाला व्यक्ति का व्यक्तित्व इतना प्रभावशाली होता है, कि लोग उसकी ओर खींचे चले आते हैं, तथा उसके विचारों को एवं उसके बातों को बहुत ही ध्यान से सुनते हैं, एवं उसे तवज्जो देते हैं, उसके द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों की भी लोग खूब सराहना करते हैंl

3. जिस भी जातक के द्वारा नीलम रत्न (Blue sapphire stone ke fayde) धारण किया गया है, और यदि उसके अनुकूल यह लाभ प्रदान कर रहा है, तो उसके जीवन में यदि परेशानियां आती भी है, तो भी वह खुद को विचलित होने नहीं देता है। उसमें धैर्य की अद्भुत क्षमता होती है, जिससे सोच समझकर विषम से विषम परिस्थिति से भी वह बाहर निकल जाता है, एवं सफल होता है।

इसे भी पढ़े:- मूंगा रत्न पहनने के फायदे 

4. नीलम रत्न (Neelam ratna ke labh)को धारण करने वाले जातक का शरीर देखने में बहुत ही आकर्षण पूर्ण होता है, तथा मानसिक रूप से भी ऐसे लोग बहुत अधिक मजबूत होते हैं।

5. नीलम रत्न (Neelam ratna benefits in hindi) को धारण करने वाला जातक में यह खासियत होती है, कि परिस्थितियां कोई भी हो वाह अपना मानसिक संतुलन नहीं खोते हैं, तथा बिना सोचे समझे कभी भी किसी बात को लेकर प्रतिक्रिया नहीं देते हैं, इनकी धैर्य क्षमता गजब की होती है, जिसकी परिकल्पना भी आप नहीं कर सकते हैंl

6.नीलम रत्न (Neelam ratna ke labh)को धारण करने वाला व्यक्ति के मन में असीम शांति का वास होता है, उसे आप देख कर के ही नहीं सकते हैं, कि उसके जीवन में कोई परेशानी है, अपने आपको वह स्थिर रखने की भरसक प्रयास करता है, तथा उसमें वह सफल भी होता है।

इसे भी पढ़े:- स्फटिक की माला के 10 चमत्कारी फायदे 

7. नीलम रत्न (Neelam stone benefits in hindi) को धारण करने वाले व्यक्ति हमेशा खुश मिजाज किस्म का रहता है, उसे जितनी भी परेशानी हो पर उसके चेहरे पर हमेशा एक मुस्कुराहट रहती हैl नीलम रत्न उसे मानसिक तौर पर इतना मजबूत बना देता है, कि बड़ी से बड़ी विकट परिस्थितियां भी उसका कुछ नहीं बिगाड़ पाती है।

8. नीलम रत्न को धारण करने से लोगों के बहुत से रोग भी ठीक होते हैं। नीलम रत्न (Neelam stone pahnne ke fayde) का औषधीय गुण भी कम नहीं है lइसे पहनने वाला व्यक्ति यदि चिरचिरा हट, अनिद्रा, पागलपन या डरावने सपने या मानसिक अवसाद जैसे किसी भी परेशानी से यदि जूझ रहा है, तो धीरे-धीरे उसके स्वास्थ्य में सुधार होने लगेगा तथा यह सब चीजें भी पूरी तरह से धीरे-धीरे समाप्त हो जाएंगे एवं वह मानसिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ हो जाएगा।

नीलम रत्न (Blue sapphire stone benefits) के भले ही आपको चमत्कारिक लाभ होते हैं, किंतु नीलम रत्न एक विध्वंसक रत्न के रूप में भी जाना जाता है, अतः बिना सोचे समझे इस रत्न को धारण ना करें, किसी विद्वान पंडित अथवा विद्वान ज्योतिष की सलाह पर ही इसे धारण करें।

अगर आप भी अभिमंत्रित किया नीलम रत्न प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ नीलम रत्न मात्र – 300₹ 600₹ रत्ती मिल जायेगा जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

Leave a Reply