ब्लू तोपाज के फायदे – Blue Topaj Ke Fayde

ब्लू तोपाज के फायदे – Blue Topaj Ke Fayde

 

ब्लू टोपाज के फायदे –

ब्लू टोपाज के फायदे ब्लू जिस प्रकार विभिन्न रत्न एवं उपरत्न शनि ग्रह के गुणों को अवशोषित करने की क्षमता रखते हैं, तथा उनके द्वारा दी जा रही कष्टों को परेशानियों को दूर करने की क्षमता रखते हैं। उसी प्रकार ब्लू टोपाज भी शनि ग्रह से संबंधित एक रत्न हैl यह एक कठोर एवं सुंदर पत्थर होता है, जो देखने में बहुत ही आकर्षक होता हैl इसे नीलमणि कहकर भी संबोधित किया जाता हैl इसका उपयोग ना केवल रत्न शास्त्र की उपयोगिता के हिसाब से किया जाता है, बल्कि इसके विभिन्न प्रकार के आभूषण एवं साज-सज्जा की चीजें भी बनाई जाती है, तथा उनका उपयोग किया जाता हैl इस रत्न के अनेक भौतिक गुण होते हैं lइसमें यह क्षमता होती है, कि गाय के शुद्ध दूध में यदि इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दिया जाए तो वह दूध को नीले वर्ण में बदलने की क्षमता रखता है।

इसे भी पढ़ें:- मोती रत्न के लाभकारी फायदे 

शनि देव को दरिद्रता, विलंब ,मिथ्या, भ्रम, बाधाएं ,दुर्घटनाओं का कारक एवं विभिन्न प्रकार की गुप्त बीमारियों का कारक आलस्य मृत्यु पापा पवित्रता सामाजिक अपमान तथा जेल से संबंधित चीजों का कारक भी शनिदेव को ही माना जाता है l एक तरफ शनि देव जहां विभिन्न प्रकार के दुखों का कारक होते हैंl वहीं दूसरी ओर जिस भी जातक के जीवन में अच्छे फल देते हैं, तो वह बहुत ही गुप्त कौशलों एवं गुप्त रहस्यमई विद्याओं का स्वामी होता हैl इसके साथ साथ मोक्ष तथा गंभीरता एवं जीवन में किसी भी प्रकार का स्थायित्व का बोध का कारक भी शनिदेव से ही संबंधित होता है।

ब्लू टोपाज धारण करने से जातक को निम्नलिखित फायदे हो सकते हैं-

1. शनि देव को आजीविका धन उपार्जन या नौकरी पेशा व्यापार आदि का कारक माना जाता है, किंतु यदि किसी व्यक्ति के लग्न कुंडली में शनि ग्रह के द्वारा दिए जा रहे दुष्प्रभाव के कारण उसका कोई भी काम धंधा नौकरी पेशा व्यापार आदि धन उपार्जन से संबंधित चीजों में सफलता नहीं प्राप्त कर पा रहा हैl उसके जीवन में स्थायित्व नाम की चीज नहीं हो रही है, तो ऐसे में ब्लू टोपाज धारण करने से शनि ग्रह के द्वारा दिए जा रहे विभिन्न प्रकार के नकारात्मक प्रभाव को यह रत्न निष्फल करने की क्षमता रखता है, तथा जातक के जीवन पर विभिन्न प्रकार से सकारात्मक एवं अनुकूल परिणाम लाता है lइसके साथ-साथ उसके जीवन में स्थायित्व को लाने का प्रयास करता है, जिससे जातक एक जगह अडिग रहकर अपने भविष्य को संवारने में पूरी मेहनत करता है।

इसे भी पढ़ें:- पन्ना रत्न का उपरत्न क्या है?

2. शनि की दृष्टि के कारण जातक के जीवन में बहुत सी परेशानियां आती हैl इसके साथ साथ उसे किसी भी चीज के अनुकूल परिणाम के लिए बहुत अधिक इंतजार करना पड़ता है, क्योंकि शनि अपने स्वभाव के अनुसार किसी को भी फल देने में बहुत अधिक समय लगाता है, तथा जातक की जितनी हो सके lउतनी करी परीक्षा लेता हैl इस रत्न को धारण करने से जातक के जितने भी शनि ग्रह से संबंधित रुके हुए कार्य होते हैंl उन सभी कार्यों का समापन जल्द से जल्द होने लगता है, तथा उसके जीवन में खुशियां लौट आती है।

3. यह एक ऐसा स्टोन है, जो बहुत त्वरित गति से कार्य करता है, जिस से जिस भी व्यक्ति के द्वारा धारण किया जाता है lउसकी परिस्थिति में यह सकारात्मक बदलाव लेकर आता है।

4. शनि की दशा शनि की महादशा या अंतर्दशा या शनि की साढ़ेसाती या शनि की ढैया में यह रत्न बहुत उपयोगी साबित हो सकता है, जिन जातकों को उपर्युक्त में से किसी भी दशा से गुजर ना पड़ रहा है, तो ऐसी स्थिति में यह रत्न धारण करना किसी वरदान से कम नहीं है lयह शनि ग्रह के द्वारा दिए जा रहे कष्टों को बहुत हद तक दूर करने की क्षमता रखता है, तथा जातक के साहस को, आत्मबल को टूटने नहीं देता है।

इसे भी पढ़ें:- नीलम स्टोन पहनने के फायदे 

5. इस रत्न को धारण करने से जातक के व्यक्तित्व में गजब का रूपांतरण देखने को मिलता हैl उसका व्यक्तित्व बहुत ही प्रभावशाली व्यक्तित्व वाला होता है, जिसकी ओर हर कोई आकर्षित होता है, एवं ऐसे जातकों के बातों का विचारों का एवं कार्यों का दूसरे लोगों के द्वारा खूब सराहना की जाती है, तथा समय-समय पर इन जातकों को सामाजिक स्तर पर सहयोग भी अप्रतिम रूप से प्राप्त होता है।

6. बहुत से जातक ऐसे होते हैं, जो धन संबंधित चीजों में अक्सर जूझते रहते हैं। परेशानियां उनके द्वार पर किसी न किसी रूप में दस्तक देती रहती हैं, जिससे उनका आर्थिक स्थिति चरमरा से जाती हैl अधिक धन के व्यय होने से उनकी रुपए पैसों संबंधित परेशानियां आए दिन बढ़ती रहती है lऐसे में यह रत्न धारण करने से जातक को फिजूलखर्ची से मुक्ति मिलती हैl इसके साथ-साथ अनेक अवसर प्राप्त होते हैं, जहां वह धन को संचित कर सकता है।

7. शनि ग्रह की कुदृष्टि के वजह से जातकों को मानसिक एवं शारीरिक तौर पर बहुत से आघात मिलने लगते हैं, जिससे जातक खुद को संभालने में निष्फल हो जाता है, ऐसी परिस्थिति में ब्लू टोपाज धारण करने से जातक को बहुत आराम मिलता है, तथा मानसिक या शारीरिक बीमारी में भी बहुत आराम मिलता है।

इसे भी पढ़ें:- मूंगा रत्न पहनने के 15 चमत्कारी फायदे 

8. ब्लू टोपाज को धारण करने से जातक के गुप्त शत्रु एवं प्रत्यक्ष शत्रु का विनाश होता है lजातक के शत्रु खुद की परेशानियों में ही उलझ कर नष्ट हो जाते हैंl यह रत्न शत्रु बाधा को नष्ट करने में पूरी तरह से सक्षम होता हैl शत्रु बाधा के निवारण के लिए भी सबसे उपयुक्त रत्न इसे माना जाता है।

9. इस रत्न को धारण करने से जातक में धैर्य की वृद्धि होती हैl वह एक धैर्यवान व्यक्तित्व वाला व्यक्ति के रूप में जाना जाता हैl इसके साथ ही उसकी वाणी भी बहुत मधुर एवं प्रभावशाली होती हैl जातक जिस भी कार्य क्षेत्र में संलग्न रहते हैंl वहां पर उन्हें सफलता प्राप्त होती है तथा लोगों से भी उसके संबंध बहुत अच्छे रहते हैं।

10. इस रत्न को धारण करने से जातक को पद प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है lइसके साथ-साथ उसे मान सम्मान से अलंकृत किया जाता है, उसका व्यापार आदि में भी वृद्धि होता है, तथा उसका संचार का दायरा बढ़ता है, एवं अच्छे एवं प्रभावशाली व्यक्तित्व वाले व्यक्तियों से उसके मधुर संबंध स्थापित होते हैं, जो बुरे समय में उसके लिए वह एक ढाल के समान कार्य करते हैं।

मित्रो यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ ब्लू टोपाज प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र में इस नंबर पर संपर्क करें  (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

Leave a Reply