स्फटिक स्टोन बेनिफिट्स इन हिंदी – Sphatik Stone Benifits In Hindi

स्फटिक स्टोन बेनिफिट्स इन हिंदी – Sphatik Stone Benifits In Hindi

 

स्फटिक स्टोन बेनिफिट्स इन हिंदी – Sphatik

 Stone Benifits In Hindi

स्फटिक (sphatik stone ke labh in hindi) एक प्रकार का पत्थर होता है, जो पूरी तरह से रंगहीन पारदर्शी होता है, बिल्कुल कांच के समानl स्फटिक को देखने में उसकी आभा पूरी तरह से फिटकरी के समान प्रतीत होती हैl स्फटिक पत्थर का संयोजक सिलिकॉन तथा ऑक्सीजन होते हैंl इसे भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे बिल्लौर ,शिवप्रिया, कांचमणि आदि। स्फटिक की प्रवृत्ति काफी ठंडी होती हैl यही कारण है, कि इसे स्पर्श करने से ठंडक महसूस होती है।

स्फटिक स्टोन के लाभ- Sphatik Stone Benifits In Hindi

इसे भी पढ़िए:- सफेद गुंजा क्या है?

1. स्फटिक स्टोन का प्रयोग शुक्र ग्रह की स्थिति को मजबूत बनाने के लिए किया जाता हैl यदि किसी जातक को शुक्र ग्रह के द्वारा अशुभ फल दिया जा रहा है, या फिर किसी भी प्रकार से जातक शुक्र ग्रह के प्रभाव से वंचित है, तो ऐसी स्थिति में स्फटिक स्टोन (sphatik stone ke fayde) से बने हुए आभूषण को धारण करने की सलाह दी जाती है।

2. ऐसा माना जाता है, कि स्फटिक स्टोन में स्वयं मां लक्ष्मी विराजमान रहती हैl यही कारण है, की मां लक्ष्मी से संबंधित विभिन्न मंत्रों को यदि इससे बने माला के द्वारा जपा जाए तो वह बहुत जल्दी सिद्ध हो जाता है, तथा अपना प्रभावशाली प्रभाव जल्द ही दिखाना शुरू करता है।
माता सरस्वती की कृपा प्राप्त करने के लिए भी स्फटिक माला का प्रयोग किया जाता है lऐसा माना जाता है, कि जिन जातकों के द्वारा स्फटिक माला (sphatik stone benefits in hindi) धारण किया जाता हैl उनकी बुद्धि कुशाग्र होती है lमां सरस्वती का वास स्वयं उनके जीहवा पर होता हैl स्फटिक माला के प्रयोग के द्वारा माता सरस्वती के भी मंत्र जपने से भी चमत्कारिक रूप से वह जल्द ही सिद्ध हो जाता हैl शुक्र ग्रह नारी तत्व को निरूपित करने वाला ग्रह होता है, ऐसे में जितनी भी देवियां होती है lउन सभी से संबंधित मंत्रों को यदि स्फटिक स्टोन की माला से जपा तो वह बहुत जल्द सिद्ध हो जाते हैं।

इसे भी पढ़े:- मच्छ मणि क्या है?

3. यदि कोई व्यक्ति बहुत अधिक आर्थिक कष्ट से गुजर रहा है, एवं कर्ज की स्थिति लगातार उसके जीवन को और अधिक खराब कर रही है, ना चाहते हुए भी धन खर्च की अधिकता से उसकी आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो चुकी हैl घर में दरिद्रता का वास हो गया है, ऐसी स्थिति में स्फटिक स्टोन (sphatik stone dharan karne ke fayde) को धारण करना बहुत ही उपयोगी एवं चमत्कारी सिद्ध हो सकता हैl यह स्टोन धन अर्जुन के मार्ग में आने वाले सभी परेशानियों को दूर करने की क्षमता रखता है, तथा विभिन्न प्रकार के नवीनतम आय के स्त्रोत श्रीजीत करता है, जिससे जातक की आर्थिक परेशानियां जल्द से जल्द दूर होनी शुरू हो जाती है। धन का अभाव उसके जीवन से कोसों दूर चला जाता हैl आर्थिक स्थिति दिनोंदिन मजबूत होने लगती है, पैसे का आगमन कहीं ना कहीं से शुरू हो जाता है, जिससे धन संचय के भी अद्भुत अवसर प्राप्त होते हैं।

4. जिन बच्चों का मन पढ़ाई में बिल्कुल भी नहीं लगता है। बच्चे चाह कर भी एकाग्र होकर खुद को पढ़ाई में व्यस्त नहीं रख पाते हैं, तथा एकाग्रता की कमी के कारण विभिन्न विषयों में उनकी समझ बिल्कुल नगण हो जाती है, या फिर कई बार देखा गया है, कि बच्चे अपना पाठ तो याद कर लेते हैं, किंतु परीक्षा की शुरुआत में ही भूल जाते हैंl उन्हें भूलने जैसी समस्या होने के कारण पठन-पाठन संबंधित चीजों में अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता हैl विद्या अध्ययन में अनेक व्याधि उत्पन्न होने लगती है, जिससे विद्या अध्ययन के प्रति उनकी रुचि भी बहुत कम जाती है, और खुद को कभी कभी तो बच्चे हेय दृष्टि से देखने लगते हैं।

इसे भी पढ़िए:- मूंगा रत्न पहनने के 15 चमत्कारी फायदे 

आत्मविश्वास की कमी उनमें धीरे-धीरे उत्पन्न होने लगती है, तथा अनेक प्रकार की विकट मानसिक स्थिति से छोटे बच्चे गुजरने लगते हैं, तथा अभिभावक भी उनकी स्थिति को समझने में असक्षम होते हैं, उनकी पीड़ा को स्वयं अभिभावक भी नहीं समझ पाते हैं, कई बच्चे तो ऐसी परिस्थितियों में बहुत अधिक चिड़चिड़ा ने लगते हैंl इसके साथ-साथ चीखना चिल्लाना आम बात उनके व्यक्तित्व का अभिन्न अंग हो जाता है, ऐसे में बच्चों के पठन-पाठन संबंधित चीजों में एकाग्रता प्राप्त करने के लिए तथा स्मृति शक्ति को बढ़ाने के लिए स्फटिक स्टोन का प्रयोग सबसे उत्तम माना जाता हैl विद्या अध्ययन में आने वाले बाधकों को दूर कर विद्यार्थी वर्ग को उनके कर्तव्य के प्रति जागृत करता हैl कर्तव्यों के प्रति स्फटिक स्टोन प्रेरित करता हैl उनके प्रेरणास्रोत में स्फटिक रत्न (sphatik stone ki jankari) चार चांद लगाता है, जिससे बच्चे स्वयं ही विद्या अध्ययन में समग्र होकर जूट जाते हैं।

5. पौराणिक काल से ही स्फटिक स्टोन (sphatik stone dharan karne se kya hota hai)  या उससे बने हुए आभूषण का उपयोग व्यापक रूप से किया जाता रहा हैl इसका उपयोग कई घरों में तो विभिन्न प्रकार के रक्षा मंत्र के द्वारा इसे अभिमंत्रित कर लोग अपने कमरे में या अपने पूजा स्थल पर रखते हैं, जिससे उनके घर से नकारात्मक ऊर्जा पूरी तरह से नष्ट हो जाती हैl घर में लड़ाई झगड़े क्लेश आदि के माहौल को स्फटिक स्टोन पूरी तरह से खत्म कर देता है, तथा हर और खुशहाली एवं शांति के माहौल को इंगित करता है lघर के सदस्यों के बीच अच्छे तालमेल एवं अच्छी समझ उत्पन्न करता है, जिससे घर के सदस्य एक दूसरे के कार्यों में मदद करते हैं, एवं मिलजुल कर रहते हैं, जिससे उनके परिवार में एकता का वास होता है। परिवार जरूरत के वक्त हर वक्त साथ रहता है, तथा घर में शांति खुशहाली का माहौल रहता है, जिससे उनके ऊपर ईश्वर की भी कृपा बनी रहती है, एवं उन्हें विविध प्रकार से भी स्फटिक रत्न लाभ प्रदान करता है।

इसे भी पढ़े:- मोती की माला के 20 चमत्कारी फायदे 

6. ऐसे लोग जो किसी प्रकार की मानसिक बीमारी से पीड़ित है, या उनका चंद्र ग्रह किसी भी प्रकार से दूषित है, या चंद्र के द्वारा दिए जा रहे अशुभ प्रभाव के कारण उनकी मानसिक स्थिति पूरी तरह से बिगड़ गई है, तथा भ्रम जैसी स्थिति उत्पन्न होने लगी है, जिसकी वजह से जातक अनिद्रा तक का शिकार हो चुका है, एवं पागलपन जैसे लक्षण दिखाई पड़ने लगे हैं, तो ऐसी स्थिति में स्फटिक रत्न (sphatik stone ka upyog kaise kare) को भगवान शिव शंभू के चरणों में रखने के बाद इसे सोमवार को उस जातक को अवश्य धारण करना चाहिए, जिससे उसकी मानसिक स्थिति सुधर सके मन -मस्तिष्क में सही तालमेल बैठ सके, जिससे वह सांसारिक क्रियाकलाप में पारस्परिक संबंध स्थापित कर सकें, ऐसा माना जाता है, कि स्फटिक स्टोन को धारण करने से भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद जातक के ऊपर बना रहता है।

मित्रो यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ स्फटिक माला प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ स्फटिक माला मात्र- 700₹ में मिल जायेगी जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

Leave a Reply