गुंजा किस काम आती है – Gunja Kis Kam Aati Hai

गुंजा किस काम आती है – Gunja Kis Kam Aati Hai

 

गुंजा किस काम आती है?

गुंजा किस काम आती है- गुंजा की उपयोगिता को आप गिनते गिनते थक जाएंगे, किंतु इसके चमत्कारिक गुणों से होने वाले लाभ खत्म नहीं होंगेl आइए जानते हैं, कि गुंजा किस काम आती है-

इसे भी पढ़े:- पन्ना रत्न के फायदे और नुकसान

1. वर्तमान में ऐसी स्थिति बनी हुई है, कि लोग सांसारिक सुख को प्राप्त करने के चक्कर में रिश्ते नाते सभी चीज़े भूलते चले जा रहे हैं lयदि उनके परिवार वाले में से किसी की तरक्की होने लग जाती है, तब वह इंसान आंख में कांटे की तरह चुभने लगता है, उसके कर्मो के अनुसार उसे अच्छे फल प्राप्त हो रहे हैंl यह कोई नहीं सोचता है, केवल उक्त व्यक्ति की कमाई पर सभी आंख गराने लगते हैंl आज लोग अपने दुख से कम दूसरे के सुखी जीवन को देखकर अधिक दुखी हैं lउन्हें अपने दुखों से अधिक दूसरे के सुखों की चिंता दिन रात सताती रहती है, ऐसी स्थिति में कई बार देखा गया है, कि लोग जलन में आकर इर्षा में आकर कई बार अप्राकृतिक चीजों का सहारा लेने लगते हैं, कई बार परा शक्तियों की सहायता लेकर उस व्यक्ति का जीवन बर्बाद कर देते हैं, जिसके कारण लेक ना केवल बाहरी दुनिया से कट जाता है, बल्कि अपने लोगों से भी बोलना चाल ना सब बंद कर देता है।

मानसिक दबाव उस पर बहुत अधिक बढ़ने लगता है, परा शक्तियां उसे पूरी तरह से बर्बाद कर देती है, चाहे वह व्यक्तिगत जीवन हो या सामाजिक स्थिति या कार्यक्षेत्र से संबंधित चीजे सभी में उसे हानि होनी शुरू हो जाती हैl उसका स्वास्थ गिरने लगता हैl धन की बर्बादी व्यापक रुप से होने लगता है, जिसके कारण उसकी आर्थिक संरचना पुरी बर्बाद हो जाती हैl लोगों के नजर में भी अब उसका महत्व समाप्त होने लगता है, ऐसे में व्यक्ति बहुत अधिक मानसिक संताप से गुजरने लगता है, जिसके कारण वह भावनात्मक रुप से काफी अलग हो जाता है, कोई भी उसकी व्यथा को समझ नहीं पाता शारीरिक बीमारियां उसे घेरने लगती है।

इसे भी पढ़िए:- गोमेद रत्न के बारे में बताएं 

शारीरिक शिथिलता एवं मानसिक अकर्मण्यता उसे हर ओर से क्षति पहुंचाने लगती है, हर ओर से व्यक्ति द्रवित होने लगता है, कोई भी कार्य नहीं बनता हैl हर ओर से झगड़ा लड़ाई वाद-विवाद बहुत अधिक होता हैl छोटी सी बात को भी लोग खींचकर बहुत अधिक बड़ा बना देते हैं, जिससे व्यक्ति उन सभी चीजों में पीस कर रह जाता हैl वह बस सोचता रह जाता है, कि आखिर उसकी क्या गलती है ?जो उसे इस प्रकार की विडंबना से गुजरना पड़ रहा है, आखिर उसके द्वारा ऐसा क्या कर दिया गया जिसके स्वरुप उसे इस प्रकार ईश्वर ने दंडित किया है, किंतु भोले भाले इंसान क्या मालूम कि यह सारा करामाती किसी स्पृहाशील व्यक्ति के गंदे दिमाग की उपज है, ऐसे में व्यक्ति को गुंजा से बने हुए माला को धारण करना चाहिए, यदि वह माला सिद्ध की हुई रही तब तो वह उसके लिए बहुत ही उत्तम रहेगा।

इससे किसी भी तरह की उसके ऊपर की जाने वाली क्रिया को पूर्ण रूप से नष्ट कर देता है, तथा यह हर प्रकार की नकारात्मक चीज को उस प्रतिद्वंदी उस शत्रु के ऊपर ही पलट देता है, इसलिए यदि कोई व्यक्ति विशेष इन सब परिस्थितियों से गुजर रहा है, या कोई व्यक्ति विशेष चाहता है, कि इस प्रकार की चीजें घटित ना हो एवं अपने कार्य क्षेत्र में या अपने जीवन के विभिन्न क्षेत्र में बिना किसी अवरोध के वह सफलता की सीढ़ियों को चढ़ता जाए, तो ऐसी स्थिति में उसे गुंजा के माला अवश्य धारण करना चाहिए। गुंजा के माला को यदि अभिमंत्रित करके धारण किया जाए, तो यह अपने चमत्कारिक प्रभाव से व्यक्ति विशेष के आभामंडल की पूर्ण रूप से सुरक्षा करता है, जिससे व्यक्ति विशेषक हर तरह की नकारात्मक पारलौकिक शक्तियों से सुरक्षित रहता है lउस पर किसी भी व्यक्ति की बुरी नजर तंत्र मंत्र आदि जैसी चीजें विभव नहीं हो पाती हैl इस माला की खासियत होती है, कि यह प्रत्येक आयु वर्ग के लोग धारण कर सकते हैं, तथा इस प्रकार की चीजों से सुरक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े:- हकीक माला के अदभुत फायदे 

2. वर्तमान में लोगों के लिए अब कोई भी विचार या किसी की वेदना मायने नहीं रखते lआज सभी चीज़े भौतिकवादी उपकरणों के आधार एवं जरूरत बना दी गई है l इस प्रणाली की प्राण वायु केवल पैसे उनमुख चीजो से चलती हैl इसमें रिश्ते नाते कोई मायने नहीं रखता है, केवल भौतिक संपति बहुत अधिक मायने रखती है, ऐसे स्थिति में स्वभाविक सी बात है कि हर कोई धन की लालसा लिए अपने स्वास्थ्य को चुनौती देते हुए अनेक कार्य करते हैं, चाहे दिन हो या रात हो अपने नींद तक को दबाकर लोग चार पैसे कमाने के बारे में सोचते हैं, क्योंकि आज पूंजीवाद व्यक्तियों का वर्चस्व माना जाता है, ऐसे में लोग धन को अधिक से अधिक कमाना चाहते हैं, वह लोग चाहते हैं, कि धन के नवीनतम स्रोत बने जिससे धन का चक्रण कभी भी रुके नहीं किसी भी स्थिति में उन्हें धन का अभाव ना हो, ऐसी कामना की पूर्ति के लिए प्रकृति ने कई प्रकार की चीजें मानव को प्रधान की है, जिसे वह अपने पैसे उन्मुक्त चीजों को प्राप्त कर सके सभी प्रकार की संसाधनों में से एक संसाधन गुंजा को माना जाता है, जो कि किसी भी तरह के मनोरथ को पूर्ण करने के लिए सबसे उत्कृष्ट शक्तियों को समाहित रखता है।

गुंजा को तंत्र की रानी माना जाता है, इसलिए कई लोगों के द्वारा प्रतिदिन महालक्ष्मी की मंत्रों का जाप गुंजा के माल से की जाती है, इसे उनके जीवन में कभी भी धन को लेकर वित्त विषयक चीजो को लेकर या निधि से संबंधित कभी भी कोई परेशानी उनके जीवन में प्रवेश नहीं करती है, जातक आंशिक रूप से उन रुप से सुरक्षित रहता है lभौतिक सुख संपदा हो कमी नहीं होती हैl इसे धारण करने वाले व्यक्ति के ऊपर सदा माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है lमाता की कृपा से देखती भौतिक सुख संसाधनों को वैभव सुख समृद्धि को बहुत ही तेजी से प्राप्त करता है, तथा उसे संरक्षित रखने में भी सफल रहता है, निधि के संचरण में वह प्रचंड रूप से आगे बढ़ता चला जाता है।

इसे भी पढ़े:- लहसुनिया रत्न के फायदे 

3. शत्रु शमन करना हो या किसी के हृदय पर विजय प्राप्त करना हो या प्रचंड वशीकरण करना हो इन सब में यह माला बहुत ही दिव्य रूप से कारगर होता हैl इसमें अनेक अविश्वसनीय गुण मौजूद होते हैं, जो किसी को भी प्रबल वशीकरण की युक्ति को प्राप्त करने में मदद करते हैं, जिससे व्यक्ति सामाजिक तौर पर या व्यक्तिगत जीवन में या कार्यक्षेत्र में हर तरफ सफलता प्राप्त करता है।

यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ लाल गुंजा की माला प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ लाल गुंजा की माला मात्र – 3500₹ में मिल जायेगी जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

Leave a Reply