चार मुखी रुद्राक्ष के फायदे – Char Mukhi Rudraksha Ke Fayde

चार मुखी रुद्राक्ष के फायदे – Char Mukhi Rudraksha Ke Fayde

 

चार मुखी रुद्राक्ष के फायदे – Char Mukhi

 Rudraksha Ke Fayde

1. चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha dharan karne ke fayde) को धारण करने से बहुत सी ऐसी स्पंदन उत्पन्न करता है, जो किसी भी व्यक्ति विशेष के व्यक्तित्व को बहुत अधिक प्रभावी करता है lउसके गैर निर्णयात्मक स्वभाव को परिवर्तित करने की क्षमता रखता है, ऐसा प्राय: देखा जाता है, कि कई लोग बहुत अधिक ज्ञान रखने वाले होते हैं, विविध प्रकार के क्षेत्रों का ज्ञान उन्हें बहुत ही उत्तम अस्तर तक होता है, किंतु जब किसी भी तरह की निर्णय लेने की बारी आती है।

इसे भी पढ़िए:- 10 मुखी रुद्राक्ष के फायदे 

तब वे लोग दूसरे पर अपनी निर्णय को लेने के लिए आश्रित हो जाते हैं, उस वक्त उनकी बुद्धि विवेक उनका साथ नहीं देता है, जब विषम परिस्थितियां उनके समक्ष उत्पन्न होती है, तब वे लोग उनके ज्ञान का प्रयोग नहीं कर पाते हैं, उनमें निर्णय लेने की क्षमता पूरी तरह से छिन्न हो जाती है, ऐसे में चार मुखी रुद्राक्ष धारण करने से वे लोग अपने बुद्धि विवेक का सही समय पर उपयोग कर अपने सही निर्णय को लेकर अपने बुद्धि विवेक का परिचालक बनते हैं ।विषम परिस्थितियों में भी चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha benefits in hindi) उनके निर्णय लेने की क्षमता को और अधिक सुदृढ़ बनाता है।

2. कई लोग ऐसे होते हैं, जो बोलने में अपनी मर्यादा को भूल जाते हैं lकई बार ऐसे शब्द निकल जाते हैंl जिनका उन्हें आभास ही नहीं रहता उचित वातावरण देखकर उचित शब्दों का प्रयोग करना उन्हें नहीं आता हर वक्त वे लोग अपने मस्ती मजाक के मूड में रहते हैं, जिसकी वजह से कई बार ऐसे शब्द उनके मुख से निकल जाते हैं, जो औरों को तो घात पहुंचाते ही हैंl इसके साथ-साथ कई बार जातक के लिए भी परेशानियां खड़ी हो जाती हैl लोग उसके चरित्र को अच्छी दृष्टिकोण से नहीं देखते हैं, जिसके कारण समाज में उसके लिए लोगों के मन में गलत धारणाएं बनने लगती है।

इसे भी पढ़े:- आठ मुखी रुद्राक्ष के अदभुत फायदे 

लोग गलत अवधारणाओं को पोषित करने लगते हैं, जिसकी वजह से उस व्यक्ति विशेष की छवि बहुत अधिक खराब होने लगती हैl खराब बुध की वजह से उसके वाणी पर नियंत्रण नहीं रहता है, जिसकी वजह से ऐसी परेशानियां उसे झेलनी पड़ती है lयदि ऐसी परिस्थिति में उसके द्वारा चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha ke fayde) धारण किया जाता है, तो उसे कई अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं, इसके साथ-साथ उसके जिह्वा पर भी नियंत्रण होने लगता है, सही एवं उपयुक्त समय पर सही शब्दों का चयन उसके लिए सफलता का कारक भी सिद्ध हो सकता है, तथा विभिन्न दृष्टिकोण से भी इसे धारण करने से उसे लाभ प्राप्त होते हैं।

3. बुध ग्रह हमारी आंतरिक चंचलता का प्रतिनिधित्व करते हैंl कई ऐसे बच्चे होते हैं, जो बहुत जल्द गंभीर अवस्था में पहुंच जाते हैं, कारण कुछ भी हो सकता है यह भी संभव है, कि वह चीजों के प्रति बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं, जिसके उनके मन पर कोई ऐसी बात छप जाती है, या इंगित हो जाती है, जिसके प्रभाव में आकर अपनी वास्तविक पहचान को अपनी वास्तविक स्वभाव को खोने लगते हैं, ऐसी स्थिति में चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha ka mahatva) अवश्य धारण करना चाहिए, जिससे बच्चे अपने प्राकृतिक आंतरिक चंचलता से परिपूर्ण रहे अपने आयु के अनुसार क्रियाकलापों में संलग्न रहे lइसके साथ ही बच्चों में विभिन्न प्रकार से अच्छे परिणाम इस रुद्राक्ष के प्रभाव के कारण देखने को मिलते हैं।

4. ऐसे लोग जो विशेष रुप से बिक्री ,विपणन या जनसंपर्क जैसी चीजों में कार्यरत हैं, या फिर वह किसी भी क्षेत्र में वक्ता के रूप में कार्यरत हैं, या नेता गन है या एक शिक्षक है, या एक वकील है, ऐसे में चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha se kya labh hota hai) धारण करना उनके लिए काफी उत्कृष्ट संचार कौशल का निर्माण करता है lविभिन्न प्रकार के उपलब्धियों को हासिल करने में बहुत अधिक मदद करता है lउनमें चतुर विचारों चतुर व्यक्तित्व का निर्माण करता है, तथा अपने पसंद की क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने में भी बहुत अच्छे शुभ योगों को भी प्रदान करने में यह रुद्राक्ष सक्षम होता है।

इसे भी पढ़े:- नवरत्न अंगूठी कैसे धारण करें 

5. चार मुखी रुद्राक्ष धारण करने से कई रोगों में भी उत्तम परिणाम देखने को मिलते हैं, क्योंकि रुद्राक्ष में प्राकृतिक रूप से कई ऐसे औषधीय गुण मौजूद रहते हैं, जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों को ठीक करने की क्षमता रखते हैंl ऐसे लोग जो किसी तरह के मानसिक विकारों के चंगुल में फंस चुके हैं, या मानसिक संताप जैसी स्थिति बन गई है, या किसी भी प्रकार का मस्तिष्क विकार से ग्रसित है, तो ऐसी स्थिति में उनके द्वारा चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha kaisa hota hai) अवश्य धारण किया जाना चाहिएl इससे उन्हें उत्तम परिणाम देखने को मिलता है।

इसे धारण करने से नकारात्मक विचारों का आपके मन मस्तिष्क हृदय से निर्गमन होने लगता है, तथा सकारात्मक विचारों का आगमन आपके जीवन में विभिन्न प्रकार के खुशियों के साथ होने लगता हैl जो आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक हितकर होता है, इससे ना केवल मानसिक विकार ठीक होते हैं, बल्कि शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति जिन्हें लकवा या दमा रोग या नासिक आरोग्य त्वचा से संबंधित रोग या फेफड़ा से संबंधित रोग या किसी भी चीज के गंध को ना मिल पाने का रोग हो या गूंगा पनिया बहरापन सभी खराब बुध के निशानियां होती हैl इन सभी में चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha ki jankari) बहुत ही आश्चर्यजनक रूप से कार्य करता है।

6. ऐसे छात्र जिन्हें याददाश्त से संबंधित किसी प्रकार की समस्या है,या याद किया हुआ पाठ परीक्षा के समय ही भूल जाते हैं, तो ऐसे छात्रों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, चार मुखी रुद्राक्ष इससे उनके आत्मविश्वास में वृद्धि होती है lइसके साथ ही उनका यादाश्त भी सुदृढ़ होता है lअंतर्दृष्टि विकसित होने से चीजों को वे लोग बहुत ही अच्छे एवं सुचारू ढंग से समझ पाते हैं, तथा अपने विद्यार्थी जीवन का क्रियान्वयन भी बहुत ही उत्कृष्ट रूप से पूर्ण करने में सक्षम बनते हैं।

इसे भी पढ़िए:- छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे 

7. चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha ke chamatkar) धारण करने से किसी भी व्यक्ति विशेष के संचार तंत्र की मजबूती रह जाती है lयह उसके बौद्धिक क्षमता तथा रचनात्मक विकास में बहुत अधिक कारगर सिद्ध होता हैl विभिन्न प्रकार के रोजमर्रा की समस्याओं से निपटने में भी यह में महारत हासिल करने में मदद करता है, हमारी ताकि क्षमता को और अधिक मजबूत बनाने में भी इस रुद्राक्ष का कोई तोड़ नहीं है।

8. इसे धारण करने से किसी भी प्रकार का अनैतिक विचार या व्यभिचार हमारे मन मस्तिष्क को दूषित होने नहीं देता हैl यह हमें सुख समृद्धि प्राप्त करने में मदद करता हैl इसके साथ ही माता सरस्वती की कृपा प्राप्त करने के लिए सबसे उपयुक्त साधन के रूप में भी चार मुखी रुद्राक्ष को प्रयोग में लाया जाता है।

9. किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए ज्ञानेंद्रियों पर नियंत्रण होना बहुत आवश्यक होता हैl इसके साथ ही हमारी ज्ञानेंद्रियां क्रियाशील होनी चाहिए, तभी हम विविध क्षेत्र में स्वर्णिम स्तर तक पहुंच सकते हैंl चार मुखी रुद्राक्ष (char mukhi rudraksha dharan karne ke labh) ज्ञान इंद्रियों को जागृत करने तथा उन्हें उपयुक्त रूप से एवं सुचारु रूप से क्रियान्वयन करने में बहुत अधिक मदद करता है, तथा हमारे जीवन के सही उद्देश्य क्या है, उससे हमें पारस्परिक संबंध स्थापित करने में मदद करता हैl हमारे जीवन की दिशा एवं दशा बदलने की क्षमता चार मुखी रुद्राक्ष में होती हैl इसे धारण करने से ना केवल भगवान भोलेनाथ की कृपा प्राप्त होती है, बल्कि ब्रह्म ज्ञान को प्राप्त करने में भी यह बहुत अधिक सहायक होता है, इसे धारण करने वाले व्यक्ति विशेष को यह विविध प्रकार से लाभ पहुंचाता है।

यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ चार मुखी रुद्राक्ष प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ चार मुखी रुद्राक्ष मात्र – 350₹ में मिल जायेगा जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

 

Leave a Reply