छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha ke fayde

छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha ke fayde

 

छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha ke fayde

 

1. 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke fayde) में भगवान भोलेनाथ के पुत्र कार्तिकेय की शक्तियां प्रवाहित होती है इसलिए ऐसे लोग जो अपने पराक्रम में अपने शौर्य में वृद्धि करना चाहते हैं उन्हें छह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए किसी प्रकार के कोट कचहरी के मामले में यदि विजय प्राप्त करना चाहते हैं या पुलिस थाने का कोई कार्य में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं या किसी भी प्रकार के वाद विवाद जैसी स्थिति में विजय का स्वाद चखना चाहते हैं तो अच्छा मुखी रुद्राक्ष धारण करना बहुत ही लाभदायक होता है।

 

6 mukhi rudraksha pehne ke fayde, 6 mukhi rudraksha dharan karne ke fayde, 6 mukhi rudraksha benefits in hindi, 6 mukhi rudraksha ke fayde, 6 mukhi rudraksha ke fayde in hindi, 6 mukhi rudraksha ke kya fayde hain, 6 mukhi rudraksha benefits in hindi language, छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे, छह मुखी रुद्राक्ष के लाभ, छह मुखी रुद्राक्ष का महत्व, 6 मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे,
6 मुखी रुद्राक्ष के फायदे

 

यह न केवल शत्रु पर विजय प्राप्त करने में मदद करता है बल्कि आपके पराक्रम में आप की निडरता में आपके साहस में आपके शौर्य में अप्रतिम रूप से वृद्धि करता है यह किसी भी प्रकार के युद्ध का कारक माना जाता है तथा उस में होने वाले विजय को 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha pehne ke fayde) के द्वारा निरूपित किया जाता है देवताओं के सेनापति भगवान कार्तिकेय का आशीर्वाद उक्त व्यक्ति विशेष पर बना रहता है तथा उसे भिन्न-भिन्न क्षेत्र में विजय प्राप्त होती है डर एवं भय उसके छवि से कोसों दूर भागते हैं।

 

2. 6 मुखी रुद्राक्ष ऐसे लोगों को अवश्य धारण करना चाहिए जिनके मन में हर वक्त किसी न किसी अनजाने भय एवं अनजाने घटना घटने की बेचैनी हमेशा रहती है उनका मन प्रतिक्षण किसी न किसी अशुभ घटना को घटने को लेकर आशंकित रहता है उनका जीवन घोर निराशा पूर्ण होता है तथा आतंक के साए में अपनी वर्तमान की दिव्य मनुष्य जीवन को होते रहते हैं।

इसे भी पढ़ें :~ नीलम रत्न क्या है, इसकी चमत्कारी शक्तियां और अभिमंत्रित कहाँ से प्राप्त करें ?

इसे भी पढ़ें :- ओपल रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और धारण करने की विधि ? 

इस वर्ग में किसी भी आयु के लोग हो सकते हैं हो सकता है छोटे बच्चे जो किसी न किसी तरह के भय से ग्रसित होते हैं जिससे उनका बचपन आंखों ने लगता है उनकी आंखों में मन मस्तिष्क में कोई अनजाना डर बैठ जाता है जिसके कारण वह अपने बचपन में होने वाले परस्पर क्रिया से दूर होने लगते हैं।

 

अपनी चंचलता को भूल जाते हैं, अपना मासूमियत को भूल कर डर के साए में जीने लगते हैं या ऐसा युवा वर्ग जो किसी तरह की घटना से इतना अधिक प्रभावित हो चुका है जो उस संवेदनशील छवि के कारण उसके मन मस्तिष्क पर बुरे विचारों का प्रभाव बहुत अधिक बढ़ गया है जिससे अपने असली व्यक्तित्व को वह खो चुका है या ऐसी स्त्री जिनके मन में समाज को लेकर ,अपने परिवार को लेकर अनजाना भय व्याप्त है या किसी भी आयु वर्ग के लोग जिनके मन में किसी भी तरह का ऐसा डर हैl

 

उन्हें जीने नहीं दे रहा है तथा जीवन के वास्तविक चरणों में उनके कर्मों से भी विमुख कर रहा है तो ऐसी परिस्थिति में उसे 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke fayde) अवश्य धारण करना चाहिए इससे उसके भय से संबंधित चीजों में उत्तम लाभ की प्राप्ति होती है तथा धीरे-धीरे चीजों पर नियंत्रण करने की क्षमता उस में विद्यमान होती हैl स्वयं भगवान कार्तिकेय का आशीर्वाद के साथ साथ माता पार्वती का आशीर्वाद भी प्राप्त होता हैl

इसे भी पढ़ें – पन्ना रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और अभिमंत्रित कहाँ से प्राप्त करें ?

 

भगवान कार्तिकेय जिनको माता पार्वती के द्वारा शक्तियों से परिपूर्ण अस्त्र वेल प्रदान किया गया है जो हर प्रकार की विध्वनशक चीज को भी नष्ट करने की क्षमता रखता है ऐसे यशस्वी, ऐसे शौर्य वान ऐसे पराक्रमी देवता भगवान कार्तिकेय का आशीर्वाद बना रहता है अतः यह रुद्राक्ष किसी भी आयु वर्ग के लोगों के द्वारा धारण किया जा सकता है इससे उनके जीवन में कई प्रकार के सकारात्मक परिणाम देखने को मिलते हैं तथा अनचाहे भय से मुक्ति मिलती है तथा जीवन के वास्तविक रस को जातक प्राप्त करता है।

 

3. ऐसे लोग जिन्हें प्रेम में असफलता प्राप्त हो रही है उन्हें छह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इसके साथ ही यदि कोई व्यक्ति विशेष के जीवन में वैवाहिक चीजों से संबंधित समस्याएं चल रही है व्यक्ति चाह कर भी उक्त चीज के लिए कोई समाधान नहीं निकाल पा रहा है तो उसे 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke kya fayde hain) अवश्य धारण करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें – मच्छ मणि क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और धारण करने की विधि ? 

इससे विवाह में उत्पन्न होने वाले अलगाव की स्थिति तथा अनावश्यक विच्छेद को रोकता है यह जीवन में प्रेम की कमी को दूर करने में सक्षम होता है यदि किसी भी व्यक्ति के जीवन में विवाह विच्छेद जैसी समस्या चल रही है तथा वह वैवाहिक जीवन में अच्छे परिणाम की आशा रखता है तो उसे 6 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

 

4. 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke fayde) व्यक्ति के वैशिष्ट्य आकर्षण को बढ़ाता है। ऐसे लोग जो आकर्षण युक्त वैशिष्टय प्राप्त करना चाहते हैं। उन्हें 6 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

 

5. यदि किसी व्यक्ति विशेष के कार्य संपन्न नहीं हो पा रहे हैं उसके कार्य में विघ्न – बाधाएं कई प्रकार के उत्पन्न हो रहे हैं। कई प्रकार के अवरोधों के कारण उसके कार्य समय से पूर्ण होने के बजाय और अधिक जटिल परिकरी की राहों में फंसते चले जा रहे हैं तो ऐसी स्थिति में उसे 6 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे उसके कार्य जल्द ही पूर्ण होने लगते हैं एवं निर्धारित समय पर सभी कार्यों का निर्वहन होता है तथा जीवन में आने वाले किसी प्रकार के अवरोध परेशानी को भी यह पूरी तरह से नष्ट करने की क्षमता रखता हैl

इसे भी पढ़ें – मोती की माला के 20 चमत्कारी फायदे – जान कर हो जायेंगे हैरान

 

इसे भी पढ़ें – कार्यों में सफलता, व्यापार में वृद्धि एवं सभी परेशानियों से छुटकारा हेतु धारण करें पीताम्बरी नीलम 

6. छह मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke fayde in hindi) धारण करने से किसी भी व्यक्ति के जीवन में भौतिक सुख संपदाओं की कमी नहीं रहती है। उसका जीवन विभिन्न प्रकार के संसारिक सुख संसाधनों से परिपूर्ण होता है तथा माता लक्ष्मी की कृपा जातक के ऊपर एवं उसके परिवार वालों के ऊपर सदा बनी रहती है।

 

7. कई प्रकार के औषधीय गुणों से परिपूर्ण रुद्राक्ष यदि किसी भी बीमार व्यक्ति जो हिस्टीरिया ,मूर्छा, मासिक रोग, मानसिक कुंठा, प्रजनन क्षमता आदि से ग्रसित है तो ऐसी स्थिति में यह रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे बहुत ही अप्रतिम लाभ प्राप्त होता है तथा विभिन्न प्रकार के रोग दोष दूर होते हैं।

 

8. ऐसे लोग जो कला के क्षेत्र से संबंध रखते हैं उन्हें 6 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे उनके कौशल क्षमता में और अधिक उत्कृष्टता आती है तथा उनके कला में और अधिक प्रखरता आती है जिससे वे लोग अपने कार्य क्षेत्र में उत्तम लाभ प्राप्त करते हैं उन्हें मान – सम्मान की प्राप्ति होती है।

 

अभिमंत्रित 6 मुखी रुद्राक्ष कहां से प्राप्त करें – 6 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

मित्रों यदि आप भी अभिमंत्रित 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha ke fayde) प्राप्त करना चाहते है तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से अभिमंत्रित प्राप्त कर सकते हैं जो हमारे यहां मात्र – 350₹ में मिल जाएगा, लैब सर्टिफिकेट और गारंटी कार्ड के साथ दिया जाएगा – Call and Whatsapp – 7567233021

 

 

Leave a Reply