हकीक की माला का महत्व – Hakik Ki Mala Ka Mahatva

हकीक की माला का महत्व – Hakik Ki Mala Ka Mahatva

 

हकीक की माला का महत्व

हकीक की माला का महत्व- रत्न शास्त्र में वैसे तो विभिन्न प्रकार के रत्न एवं उपरत्न बताए गए हैं, किंतु कुछ ऐसे भी स्टोन है, जिनका मुख्यतः कोई भी नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है, जिसे धारण करने से विभिन्न प्रकार के लाभ अवश्य होते हैं, किंतु उसके नकारात्मक प्रभाव ना के बराबर होते हैं। यही कारण है, कि बहुत से लोगों के द्वारा रत्न एवं उपरत्न के स्थान पर इनके मनके से बने माला भी धारण किया जाता है। हकीक एक ऐसा पत्थर है, जिसे पहनने से पूर्व किसी खास ज्योतिष सलाह की आवश्यकता नहीं होती हैl यह प्राकृतिक तौर पर इतनी जागृत होती है, कि इसमें विभिन्न प्रकार के गुण मौजूद होते हैं, उन सभी गुणों में से 1 गुण होता है, चुंबकीय गुण जो विभिन्न प्रकार के रंगों वाले हकीक में पाया जाता है, तथा उत्कृष्ट गुणवत्ता होने की सबसे खास निशानी होती है, कि उसकी ऊर्जा।

इसे भी पढ़िए:- फिरोजा रत्न के अदभुत फायदे जानकर हैरानी 

1.काले हकीक की माला- काला हकीक की माला मुख्यतः शनि ग्रह से संबंधित तक दोषों एवं अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिए धारण किया जाता हैl ऐसा माना जाता है, कि इसे धारण करने से जातक के ऊपर शनिदेव की विशेष कृपा बरसती हैl लोगों के द्वारा शनि देव के प्रकोप से बचने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है lइसके साथ साथ राहु केतु की दृष्टि से भी यह रत्न उपयोगकर्ता को बचाता है।
विभिन्न प्रकार के मंत्रों को अभिमंत्रित एवं सिद्ध करने के लिए भी काले हकीक की माला का उपयोग किया जाता है, ऐसा माना जाता है, कि भगवान शिव शंभू एवं मां काली एवं बजरंगबली तथा बाबा भैरव के मंत्रों का जप यदि काले हकीक की माला से जाप किया जाए तो बहुत जल्दी सिद्ध हो जाता है, एवं उनकी कृपा भी जातक को प्राप्त होती हैl विभिन्न प्रकार की साधनाओ में भी इसका प्रयोग किया जाता है, जैसे -यक्षिणी साधना हो या अप्सरा साधना या फिर और भी किसी देवी देवता की साधना हो इन सभी को भली- भूत तरीके से सिद्ध करने के लिए इस माला का प्रयोग किया जाता है lतंत्र -मंत्र एवं उच्च कोटि के साधनाओ में भी इसका प्रयोग किया जाता है।

2.सफेद हकीक की माला– सफेद हकीक की माला चंद्र से संबंधित विभिन्न प्रकार के विघ्नों को दूर करता है lचंद्र जो हमारे मन का कारक होता है lहमारी मानसिक स्थिति का कारक होता है lउसे पूरी तरह से संतुलित करने की क्षमता इस माला में व्याप्त होती हैl मानसिक अस्थिरता या किसी प्रकार की अनावश्यक चिंता, अवसाद ,घबराहट जैसी चीजों को दूर करने की क्षमता यह रत्न रखता हैl कमजोर चंद्र जातक को अधिक भावनात्मक बना देता है, तथा भावना में बहकर जातक कई बार ऐसे निर्णय ले लेता है, जिसकी वजह से उसे बाद में बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है, ऐसे में यह लोगों को भावनात्मक रूप से एवं मानसिक रूप से बहुत मजबूत बनाता है, जिससे लोगों की निर्णायक क्षमता बहुत मजबूत हो सके एवं भविष्य में होने वाली किसी भी प्रकार की घटना में अपना सही निर्णय जातक लेने में सक्षम हो। इसके साथ साथ उपयोगकर्ता के एकाग्रता शक्ति में भी यह रत्न वृद्धि करता है, उसे एक शांत चित्त प्रदान करता है।

इसे भी पढ़ें:- काली गुंजा के अदभुत फायदे 

विभिन्न प्रकार की कमजोर चंद्र से संबंधित बीमारियां जैसे पागलपन, स्वसन, फेफड़े ,कफ, नेत्र ,विकार आदि को दूर कर चंद्र की स्थिति को मजबूत बनाता है। अध्यात्मिक चरणों के विभिन्न आयामों में भी यह जातक को अप्रतिम सफलता दिलाने की क्षमता रखता हैl मन मस्तिष्क पर पूरी तरह से संतुलन स्थापित करने की क्षमता इसमें विद्यमान होती है, इसकी श्वेत आभा मन मस्तिष्क को पूरी तरह से शांत कर देती है, तथा आंखों को ठंडक प्रदान करती है lइसे धारण करने का सबसे शुभ दिन सोमवार को को माना गया है, तथा भगवान शिव शंभू का आशीर्वाद प्राप्त कर विभिन्न चंद्र के मंत्रों से अभिमंत्रित करने के पश्चात इसे धारण किया जाना चाहिए।

3.पीला हकीक की माला- पीला हकीक की माला का उपयोग गुरु बृहस्पति की स्थिति को मजबूत बनाने के लिए धारण किया जाता है l यदि जन्मपत्रिका में गुरु बृहस्पति की स्थिति अच्छी नहीं है, या गुरु बृहस्पति पूरी तरह से निष्क्रिय हैं, तो ऐसी अवस्था में यह माला धारण करना बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो सकता हैl गुरु जिनके बिना हमारा ज्ञान अधूरा है lहमारे ज्ञान का कारक तथा हमारे जीवन में संपन्न होने वाले विभिन्न प्रकार के विशिष्ट मंगलकारी चीजें इन्हीं की कृपा से संपन्न होती है, जैसे -शादी विवाह हो या संतान की प्राप्ति हो या फिर किसी शिक्षा संस्थान से जुड़ना या फिर शिक्षा से संबंधित किसी भी क्षेत्र में उच्च पद प्राप्त करना सभी गुरु ग्रह की कृपा से ही संभव होता है lइनके बिना कोई भी मांगलिक कार्य संपन्न नहीं हो सकता है lयदि जन्मपत्रिका में गुरु ग्रह की स्थिति मजबूत होती है, तो क्रूर एवं उग्र ग्रह भी जातक के ऊपर अपना नकारात्मक प्रभाव अधिक नहीं दिखा पाते हैं, क्योंकि गुरु ग्रह की यह खूबी होती है, कि क्रूर एवं पापी ग्रहों द्वारा दिए जा रहे दुष्प्रभाव को यह पूरी तरह से विफल करने की क्षमता रखता है, इसे धारण करने से माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। जातक धन-धान्य से संपन्न में रहता है।

इसे भी पढ़िए:- माणिक रत्न पहनने के फायदे 

4.हरा हकीक की माला- हरा हकीक की माला देखने में बहुत ही खूबसूरत एवं अपारदर्शी स्टोन होता है, जब इस पर प्रकाश की किरणें पड़ती है, तब यहां के लोगों को पूरी तरह से अवशोषित कर लेता है, तथा एक हरे रंग का शक्तिपुंज के समान चमकता हैl इसकी उपचारात्मक गुण इसे और अधिक विशिष्ट बना देते हैंl जन्मपत्रिका में बुध ग्रह की स्थिति को मजबूत बनाने के लिए हरा हकीक की माला को धारण किया जाता है, जो हमारी बुद्धि विवेक का कारक होता है। बुध ग्रह जो हमारे गणित की मजबूती को दर्शाता हैl बुध ग्रह जो हमारे संचार तंत्र की स्थिति को दर्शाता है lहमारे कोमल स्वभाव को दर्शाता है। नौ ग्रहों में बुध ग्रह को राजकुमार की उपाधि से अलंकृत किया जाता है, यही कारण है, कि जिसका भी बुध मजबूत होता है।

वह जातक हर जगह मान सम्मान प्राप्त करता है, तथा उसके बाद इतनी मधुर होती है, कि लोग उसकी ओर आकर्षित हुए बिना स्वयं को नहीं रोक पाते हैं lइस माला को धारण करने से उपयोगकर्ता के संचार तंत्र में सुधार आता है, तथा लोगों से जुड़ने में यह माला बहुत मदद करता है lइसके साथ-साथ बुद्धि विवेक को भी यह बहुत तेज बनाता हैl राहु के मंत्रों का भी जाप इस माला के द्वारा किया जाता है तथा इसे धारण करने से राहु की स्थिति भी मजबूत होती है, जिससे जीवन में आकस्मिक घटने वाली दुर्घटनाएं कम होती है, एवं सांसारिक एवं भौतिक वस्तुओं का जातक के जीवन में कभी भी कमी नहीं रहती है।

मित्रो यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ काला हकीक की माला प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ काला हकीक की माला मात्र – 700₹ में मिल जायेगी जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

Leave a Reply