बुध को शांत करने के उपाय – Budh Ko Shant Karne Ke Upay

बुध को शांत करने के उपाय – Budh Ko Shant Karne Ke Upay

 

बुध को शांत करने के उपाय

बुद्ध को शांत करने के उपाय जानना बहुत आवश्यक है, अन्यथा इसके दुष्प्रभाव हमारे जीवन को बर्बाद कर सकते हैं।

बुध ग्रह हमारे संचार प्रणाली को नियंत्रित करता है, यह हमारी बुद्धि विवेक आदि का संचालक होता है। यदि बुद्ध खराब तो आपके अंदर बहुत से वानी दोष उत्पन्न होंगेl आपकी बुद्धि जब काम करनी चाहिए तब वह काम नहीं करेगी lबुद्ध ग्रह हमारी मस्तिष्क को नियंत्रित करता है। यदि यह कार्य नहीं करेगा तो आप में सोचने समझने की क्षमता छीन होने लगेगी। इसकी अनेक उपयोगिता इसे बड़ा ही व्यापक स्तर का ग्रह बनाती है। बुद्ध ग्रह को देवताओं का राजकुमार से संबोधित किया जाता है।

इसे भी पढ़े:- फिरोजा रत्न के फायदे 

नवग्रह के मंत्रिमंडल में इसे राजकुमार की पदवी इसके विशेष्य एवं महत्वपूर्ण गुणों की वजह से प्रदान की गई है lबुद्ध ग्रह हमारे विचारों को नियंत्रित करता है। हमारी वाणी गणित तथा विद्या का कारक भी बुद्ध ग्रह होता हैl बुद्ध खराब होने की वजह से आपके लोगों से संबंध खराब होने लगेंगे बात-बात पर झगड़े झंझट बढ़ जाएंगे। छोटी-छोटी बातों को लोग बड़ा बनाकर आपके छवि को धूमिल करने का प्रयास करने लगेंगे lगुप्त शत्रु की संख्या अचानक बढ़ जाएगीl वाणी पर नियंत्रण नहीं होने की वजह से आप कभी भी किसी को भी कुछ भी बोल देंगे, जिसकी वजह से आपको आर्थिक नुकसान के साथ-साथ मानहानि होने की भी प्रबल संभावना बनी रहेगी।

सामाजिक प्रतिष्ठा में भी हानी होने की प्रबल संभावना बनी रहेगी। बुद्ध ग्रह कमजोर होने से सूंघने कि शक्ति छीन हो जाती है। विद्या अध्ययन या पाठ पठन संबंधित चीजों में भी जातक को अत्यधिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है lइसकी विपरीत परिस्थितियों में आप बहुत ही चीजों को भूले लगेंगेl बुद्ध ग्रह खराब होने से स्मरण शक्ति कमजोर हो जाता है lआपको बहुत सी चीजें याद ही नहीं रहेंगीl छोटी से छोटी या बहुत बार ऐसा भी हो सकता है, कि बड़ी महत्वपूर्ण बातें भी आप भूलने लगेंगे, धीरे धीरे आप के बातों का प्रभाव भी घटने लगेगा lलोग आपकी बातों को अनशुना कर देंगे lआप के अंदर से आकर्षण शक्ति खत्म होने लगेगी, जिसकी वजह से लोग आपको तवज्जो नहीं देंगे, आपके बातों को अपने विचारों को या आपको सम्मान की दृष्टि से नहीं देखेंगे।

इसे भी पढ़े:- जरकन क्या होता है?

विभिन्न प्रकार के त्वचा से संबंधित रोग होने की भी प्रबल संभावना बनी रहती हैं lबुद्ध ग्रह खराब होने से मानसिक चेतना छीन होती हैl आपकी चलाकि काम नहीं करती है lआपकी बानी को सुनकर लोग आहत होते हैं, या गुस्सा में आकर अपशब्द भी कहने लगते हैंl आपकी वाणी धीरे-धीरे कर्कश लगती है। आय के स्रोत भी घटने लगते हैं, आर्थिक स्थिति दयनीय होने लगती है, लोग आपके व्यापार काम धंधा आदि में किसी प्रकार से सहयोग नहीं करते हैं, जिससे परेशानी और भी अधिक बढ़ जाती है, घर परिवार के लोगों से भी आपके मन मुंटाव होने से आपको कभी भी जरुरत पड़ने पर वे लोग आपकी मदद नहीं करते हैं, आपका सहयोग नहीं करते हैं, आपका व्यक्तित्व बड़ा ही वोझिल सा हो जाता है, जिसे लोग आपसे कटे कटे फिरते हैं, उनका संबंध आपसे अच्छा नहीं वन पाता है।

बुध ग्रह यदि प्रशन्न तो सब प्रशन्न इससे ऐसे ही थोड़ी ना राजकुमार की पदवी प्रदान की गई है, बल्कि इसके गुणों एवं इसके गुप्त शक्तियों के वजह से इसे राजकुमार की पदवी प्रदान की गई हैl वास्तव में आपका जो संचार प्रणाली हैl उन सभी को बुध ग्रह ही तो नियंत्रित करता है, जिसकी वजह से आपका सामाजिक तौर पर अच्छे संबंध स्थापित हो पाते हैं। आपके घर में बुआ ,दीदी, भाभी ,चाची काकी, बहन, नानी, दादी lसभी बुध ग्रह को ही तो निरूपित करती है lयदि यह लोग आपसे प्रसन्न है, तो आपका बुध ग्रह भी बहुत प्रसन्न है, ऐसा माना जाता है, कि स्त्रियों या छोटी बच्चियों का सम्मान करना उनके साथ मधुर व्यवहार करना lउन्हें समय-समय पर कुछ उपहार प्रदान करना आपके बुध ग्रह को बहुत मजबूत बनाता हैl बुध ग्रह इन सारी क्रियाकलापों से आपके ऊपर बहुत प्रसन्न रहता है, तथा इसके सकारात्मक परिणाम आपके जीवन में हमेशा देखने को मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें:- महालक्ष्मी यंत्र के फायदे 

आप अपने बुध ग्रह को और भी मजबूत बनाना चाहते हैं, तो कभी भी मुंह से कटु वचन या अपशब्द ना निकाले, इससे आपका बुध ग्रह बहुत मजबूत होगा तथा उसके अच्छे अच्छे परिणाम आपको आपके जीवन के ऊपर दिखाई पड़ेगाl बुध ग्रह के अच्छे होने की वजह से आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है lआपके त्वचा में निखार आता हैl आपकी काया में आकर्षण शक्ति बलवान होती है, हर ओर आपकी वाणी की जादू फैली रहती है, जिससे हर कोई आपके संपर्क में रहना चाहता हैl आपके साथ काम करना चाहता है lआपसे वह बहुत कुछ सीखना चाहता हैl आपके सोच ,विचार वाणी ,आपका व्यक्तित्व, उन्हें हर तरह से प्रभावित करता है, लोग आपकी प्रशंसा करते नहीं थकते हैं।

इसलिए हमेशा हमें कोशिश करनी चाहिए कि हमारा बुध ग्रह अच्छा रहे lकुछ निम्नलिखित उपायों को अपनाकर हम अपने बुध ग्रह को और भी मजबूत कर सकते हैं, या यदि वह नकारात्मक परिणाम दे रहा तो उसे सकारात्मक प्रभाव में बदल सकते हैं-

1.जो भी छोटी कन्याए होती है, वह सभी बुध ग्रह को संबोधित करती है। निरूपित करती है, ऐसे में इन छोटी कन्याओं को आप विभिन्न प्रकार की सिंगार की चीजें या पढ़ाई लिखाई की चीजें बुधवार के दिन अवश्य प्रदान करें जिससे आपका बुध ग्रह मजबूत होगा।

इसे भी पढ़ें:- सफेद पुखराज के 10 चमत्कारी फायदे 

2. बुध ग्रह के मंत्रों का जाप करना भी आपको उसके विशेष कृपा पात्र बनाता है lबुध के विभिन्न मंत्रों का जाप अवश्य करें किंतु इस बात का ध्यान अवश्य रखें की उस दिन आप मांस मदिरा का सेवन ना करें और हरे आसन पर बैठकर इस के मंत्रों का जाप करें।

3. हरे रंग के चीजों का अधिक से अधिक इस्तेमाल करेंl यदि संभव हो तो हरे रंग का रुमाल अपने पास अवश्य रखें, इससे भी बुध ग्रह मजबूत होता है।

4.बुधवार के दिन हरी घास को चारा के रूप में गाय को खिलाने से आपकी आर्थिक स्थिति सुधरती है, तथा स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां खत्म होती हैं।

5. बुधवार को हरी चूड़ियां को किन्नरों को अवश्य पहनाएं तथा उनका आशीर्वाद प्राप्त करें, इससे आपके सौभाग्य में वृद्धि होती है, आपके भाग्य के ताले खुलने लगते है।

 

Leave a Reply