वैजयंती माला के लाभ – vaijanti mala pahnane ke labh

वैजयंती माला के लाभ – vaijanti mala pahnane ke labh

 

वैजयंती माला के लाभ – vaijanti mala

 pahnane ke labh

क्रोध से भ्रमित रहने वाले लोगों के लिए वैजंती माला (vaijanti mala pahnane ke labh) बहुत ही लाभकारी माला जाता है, इसे धारण करने से व्यक्ति का चित बहुत शांत रहता है। व्यक्ति का मन आनंदित रहता है। ऐसे व्यक्ति विशेष जो अधिक संवेदनशील होते हैं, जिन्हें अपने मन की भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रखा जाता है।

भावनाओं में रहकर कोई बहुत बड़ी निर्णय लेते हैं, तथा बेकार की चीजों में फस जाते हैं, ऐसे व्यक्तियों को भी वैजंती माला अवश्य धारण करना चाहिए इससे यह शांत चित से कोई भी निर्णय लेने में मदद करता है, किसी भी तरह की मन में शंका उत्पन्न होने नहीं देता है।

इसे भी पढ़ें :- शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें ?

इसे भी पढ़ें :- शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें ?

कोई भी उपयोग करता अपने सूझ-बूझ का प्रयोग कर अच्छे एवं उपयुक्त निर्णय लेने में सफल रहता है, ऐसे बच्चे जो स्वभाव से बहुत जिद्दी होते हैं, किसी की बात नहीं सुनते हैं। उनका दिन प्रतिदिन आचरण में दूषित चीजों का वास अधिक होने लगता है जिद्द में किसी की भी नहीं सुनते हैं l

वैजन्ती माला के फायदे, वैजन्ती माला के फायदे इन हिंदी, वैजयंती माला पहनने के फायदे, वैजयंती माला के टोटके, वैजयंती माला पहनने के फायदे, वैजयंती माला धारण करने के फायदे, वैजयंती माला के लाभ, वैजयंती माला का लाभ, vaijanti mala benefits in hindi, vaijayanti mala ke labh, vaijayanti mala ke labh in hindi, vaijanti mala pahnane ke labh
वैजन्ती माला के फायदे

 

जो मन आता है, वह करते हैं, चीखना- चिल्लाना जैसी आदतों से ग्रसित होने लगते हैं। अपने अभिभावको के सभी बातों को अनसुना कर देते हैं, ऐसे बच्चों को भगवान भोलेनाथ का मंत्र ओम नमः शिवाय से जाप करते हुए माला को सिद्ध कर बच्चे को धारण करवाना चाहिए।

इससे उसके बुद्धि में आपको बहुत अच्छी फर्क नजर आने लगेगी उसकी स्वभाव में अच्छे बदला आने लगेंगे lचिढ़चिढ़ा सुझाव से वह शांत भाव की ओर बढ़ने लगेगा जल्द ही इस मनके के अविश्वसनीय प्रभाव से उक्त बच्चे की पढ़ाई लिखाई भी अच्छी होने लगती है। वह एकाग्र चित के साथ अपने पठन पाठन में पूर्ण सहभागिता दिखाता है, जिससे विद्या अध्ययन में उसे आसानी होती है, ऐसे लोग जो कामकाजी है, एवं जिन पर काम का बोझ बहुत अधिक रहता है।

घर एवं ऑफिस की झंझट में कहीं मानसिक शांति खो गई है, ऐसे लोगों को भी वैजंती माला (vaijanti mala ke labh) बहुत ही सार्थक परिणाम प्रदान करता है तथा उन्हें उनकी जीवन के हर इक पहलू से संबंधित चीजों को व्यवस्थित रूप से चलाने में अप्रतिम रुप से मदद करती है, यह उन्हें उनके कार्य शेत्र में प्रवीणता प्रदान करती है। वैजंती माला हमारे मानसिक स्थिति को सुदुरुस्त बनाने में अहम भूमिका निभाती हैl

इसे भी पढ़ें – स्फटिक की माला के 10 चमत्कारी फायदे

इसे भी पढ़ें – काले जादू से रक्षा, सभी मनोकामना पूर्ति हेतु एवं जीवन में शांति हेतु धारण करें मूंगा रत्न 

इसकी खासियत यह है, कि इसे हर कोई धारण कर सकता है, हर आयु वर्ग के लोग जैसे छोटी बच्चे हो या गृहणी या कामकाजी महिला या छोटी बच्ची हो या बालिका या फिर नौकरी पेशा या किसी भी व्यापार में संलग्न लोगों के द्वारा इस माला को धारण किया जा सकता है यह माला अपने दिव्य शक्तियों से किसी के व्यवहार में अच्छे परिवर्तन ला सकता है।

1. वैजंती माला (vaijayanti mala ke labh) एक ऐसा माला है, जो बहुत ही पवित्र माना जाता है, इसके मनके अत्यंत शुभ माने जाता है। स्वयं श्री हरि विष्णु इसे धारण करते हैं, ऐसे लोग जो भाग्य से बहुत कमजोर है, या उनका भाग्य उचित समय पर साथ नहीं देता है, इसमें किसी तरह की अर्जन उत्पन्न हो जाती है।

उस व्यक्ति में कितना ही प्रतिभा क्यों न हो किंतु उसे उसके द्वारा किए जा रहे कर्म के अनुसार उसे फल की प्राप्ति नहीं हो पाती है। कई बार तो ऐसी अवस्था में लोग मन से बहुत दुखी रहने लगते हैं, क्योंकि भाग्य के साथ के बिना कोई भी कार्य सार्थक रुप से पूर्ण नहीं हो पाता है l

ऐसे में मानसिक चिंता उत्पन्न होना स्वभाविक सी बात हैl स्वभाविक सा पहलू है। यदि कोई व्यक्ति भाग्य का प्रबल साथ चाहता है, यह व्यक्ति विशेष कोई कार्य को सार्थक रुप से पूर्ण करना चाहता है, तथा चाहता है, कि उसका भाग्य भी प्रचंड स्वरुप ले, जिससे भाग्य के माध्यम से प्राप्त होने वाले कई चीजें उसे भी प्राप्त होl ऐसी स्थिति में उसे वैजंती मनकेसे निर्मित माला को अवश्य धारण करना चाहिएl इसके बीज सौभाग्य की निशानी होते हैं l

इसे भी पढ़ें – मोती की माला के 20 चमत्कारी फायदे – जान कर हो जायेंगे हैरान

इसे भी पढ़ें – कार्यों में सफलता, व्यापार में वृद्धि एवं सभी परेशानियों से छुटकारा हेतु धारण करें पीताम्बरी नीलम 

जिसके कारण व्यक्ति सौभाग्य शाली बनता है, सौभाग्य की मजबूती के लिए जातक को इसे गंगाजल से धुल कर सोमवार या शुक्रवार के दिन धारण करना चाहिए इसके लिए उसे भगवान श्री कृष्ण का मंत्र -“कृं कृष्णाय नमः'” जाप करने के पश्चात वैजन्ती माला (vaijanti mala dharan karne ke fayde) को धारण करना चाहिए उसके बाद प्रतिदिन 108 की संख्या में उपर्युक्त वर्णित मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिएl

इससे उसके व्यक्तित्व में आकर्षण आता है, तथा उसके सारे कार्य सार्थक रूप से पूर्ण होने लगते हैं भाग्य का प्रबल साथ प्राप्त होता है यह किसी भी व्यक्ति विशेष के प्रारब्ध को और अधिक उत्कृष्टता प्रदान करता है, व्यक्ति अच्छे गुणों से परिपूर्ण होता हैl

2. वैजन्ती के ज्योतिषीय उपाय भी कुछ कम नहीं है। वैजयंती के पुष्पों को बहुत अधिक शुभ माना जाता है, इसलिए ऐसे जातक जो किसी भी तरह के सूर्य ग्रह के द्वारा उत्पन्न होने वाले विशिष्ट परेशानियों से जूझ रहे हैं उन्हें वैजयंती पुष्प से सूर्य भगवान को अर्घ देना चाहिए तथा सूर्य भगवान के मंत्रों का जाप वैजयंती माला (vaijanti mala pahanne ke fayde) से करना उनके लिए बहुत ही लाभप्रद माना जाता है, इससे सूर्य ग्रह की स्थिति मजबूत होती है, तथा जातक में आत्मविश्वास बढ़ता है। जातक की कांति में उत्कृष्टता आती है, उसे स्वस्थ काया की प्राप्ति होती हैl

3. ऐसे लोग जो चाहते हैं, कि माता लक्ष्मी का निवास स्थान उनका गृह सदन हो जाए ऐसे में उन्हें माता लक्ष्मी के मंत्रों का जाप किस माला से करना चाहिए इससे उनके घर में धन की कमी नहीं रहती है। सुख, समृद्धि , ऐश्वर्य उनके द्वार पर पधारे रहते हैं। कभी भी उस घर में कलेश की स्थिति उत्पन्न नहीं होती है गृह का वातावरण बहुत ही शांत एवं आनंदमई बना रहता है। पारिवारिक सदस्यों के बीच अच्छी सामंजस्य भी देखने को मिलता है।

इसे भी पढ़ें :- टोना टोटका क्या होता है, टोना टोटका हटाने का उपाय ?

इसे भी पड़ें :- सियार सिंगी क्या है इसके चमत्कारी टोटके और कहां मिलता है ?

 

इसे भी पढ़ें :- बच्चे को नजर से बचाने के 15 जबरदस्त उपाय ? 

इसे भी पढ़ें :- सांप की केंचुली क्या है, इसके फायदे, लाभकारी टोटके और कहां से खरीदें ?

4. जो भी व्यक्ति वैजयंती माला (vaijanti mala se kya hota hai) भगवान विष्णु की आराधना करता है। उसके जीवन में सभी पाप दोष कट जाते हैं, वह कभी भी आर्थिक कमजोरी महसूस नहीं करता है उसके घर द्वार में माता लक्ष्मी का निवास होता है। भगवान विष्णु की कृपा से उसका घर आंगन धन-धान्य से परिपूर्ण रहता है, इसके साथ ही यदि भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप ॐ नमः भगवते वासुदेवायll ऐसे लोगों को अवश्य करना चाहिए जो चाहते हैं, कि उनका विवाह जल्दी संपन्न हो या विवाह में आ रही रुकावटें को पूर्ण रूप से नष्ट करने के लिए भी इस मंत्र का प्रयोग करना चाहिए l

गुरुवार से इस मंत्र को वैजयंती माला (vaijanti mala ka upyog kaise kare) के माध्यम से जाप करना चाहिए इसके प्रभाव से जल्द ही बालक हो या बालिका उसके विवाह संपन्नता में कोई परेशानी नहीं होती है, तथा उसका विवाह कुलीन परिवार में होता है। वैवाहिक जीवन में यदि चल रही परेशानियों से आप थक चुके हैं, तो आपको वैजयंती माला का प्रयोग अवश्य करना चाहिए वैजन्ती माला से उपर्युक्त वर्णित भगवान विष्णु का मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए इसके प्रभाव से आप दोनों में जितनी भी विवादित चीजें चल रही है वह सभी सुलगने लगेगी दांपत्य जीवन खुशियों से भरने लगेगा।

इसे भी पढ़ें – पन्ना रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और अभिमंत्रित कहाँ से प्राप्त करें ?

 

इसे भी पढ़ें :~ राहु, केतु और शनि ग्रह को शांत करने वाला चमत्कारी रत्न और धारण करने की विधि ?

अभिमंत्रित वैजयंती माला कहांं से प्राप्त करें – vaijanti mala pahnane ke labh

 

मित्रों यदि आप भी अभिमंत्रित वैजयंती की माला प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से अभिमंत्रित वैजयंती की माला मात्र – 250₹ में मिल जाएगा – Call and Whatsapp – 7567233021

Leave a Reply