6 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha benefits hindi

6 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha benefits hindi

 

छह मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha benefits in hindi) धारण करने से दुख दरिद्रता का नाश होता हैl ऐसे लोग जिनके जीवन में धन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या है या कर्ज जैसी स्थिति में फंसे हैं तो उन्हें छह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए ।

 

इससे आय के नवीनतम स्रोत बनते हैं धन संचय करने के अनेक अवसर प्राप्त होते हैं जिससे जातक की आर्थिक स्थिति धीरे-धीरे सुदृढ़ होने लगती है तथा माता लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहती है।

इसे भी पढ़ें – मोती की माला के 20 चमत्कारी फायदे – जान कर हो जायेंगे हैरान

 

इसे भी पढ़ें – कार्यों में सफलता, व्यापार में वृद्धि एवं सभी परेशानियों से छुटकारा हेतु धारण करें पीताम्बरी नीलम 

नौकरी पेशा व्यापार में यदि किसी भी प्रकार का घाटा हो रहा है तो भी 6 मुखी रुद्राक्ष धारण किया जा सकता है या आपके कार्य क्षेत्र में होने वाली किसी भी प्रकार की समस्या को सुलझाने की क्षमता रखता है इसे धारण करने से अकारण होने वाले वाद विवाद झगड़े झंझट जैसी स्थिति बिल्कुल भी उत्पन्न नहीं होती है तथा कार्य क्षेत्र हो या व्यक्तिगत जीवन हर जगह व्यक्ति के संबंध उत्तम रहतेे हैं।

 

8 Mukhi rudraksh ke labh, 8 mukhi rudraksha benefits in hindi, 8 mukhi rudraksha ke fayde, 8 mukhi rudraksha ke fayde in hindi, 8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे, 8 मुखी रुद्राक्ष के बारे में बताइए, 8 मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे, 8 मुखी रुद्राक्ष पहनने से क्या होता है, 8 मुखी रुद्राक्ष बेनिफिट्स इन हिंदी
6 मुखी रुद्राक्ष के फायदे

 

6 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 6 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

1. ऐसे लोग जो किसी भी आयु वर्ग के हैं किंतु उन्हें ध्यान केंद्रित करने में समस्या होती है या उन्हें एकाग्र होने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है तो ऐसी स्थिति में छह मुखी रुद्राक्ष धारण किया जा सकता है इससे उनकी एकाग्रता शक्ति में वृद्धि होती है तथा स्मृति भी स्वस्थ एवं सुदृढ़ होती है।

 

विभिन्न प्रकार की शारीरिक एवं मानसिक कमियों को दूर करने की क्षमता रखता है इसलिए इसे कोई भी धारण कर सकता है बस धारण करने से पूर्व इसे अभिमंत्रित करना आवश्यक होता है ताकि आपको इसका सर्वोत्तम लाभ प्राप्त हो सके।

इसे भी पढ़ें :- बच्चे को नजर से बचाने के 15 जबरदस्त उपाय ? 

इसे भी पढ़ें :- सांप की केंचुली क्या है, इसके फायदे, लाभकारी टोटके और कहां से खरीदें ?

2. ऐसे लोग जो शैक्षणिक क्षेत्र में है या कला से संबंधित किसी क्षेत्र में है या अपने आजीविका के साधन में किसी भी क्षेत्र में संलग्न है उनमें यह रचनात्मक दृष्टिकोण उत्पन्न करता है।

 

जिससे उनकी कार्यशैली में परिवर्तन आती है उनके प्रबंधन क्षमताओं में प्रखरता आती है जिससे उन्हें कार्य क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है कई प्रकार की कौशलों को प्राप्त करने में भी यह मनका बहुत अधिक सहायक सिद्ध होता है।

 

आकर्षक व्यक्तित्व प्रदान करने में भी इस मनके का कोई जवाब नहीं है इसे धारण करने से व्यक्तित्व का रूपांतरण बहुत ही उत्कृष्ट होता है तथा उपयोगकर्ता के अदर कई प्रकार के क्षमताओं कई प्रकार के कौशलों का उद्गम होता है जो उसे पेशेवर जीवन हो या व्यक्तिगत जीवन हर और सफलता प्राप्त करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें :- स्याही के कांटे से अपने शत्रु को बर्बाद कैसे करें ? महाशक्तिशाली टोटका ।

इसे भी पढ़ें :- नेत्र सम्मोहन क्या है और इसके महाशक्तिशाली फायदे ? 

3. 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksha pehne ke fayde) विद्यार्थी वर्ग के द्वारा भी धारण किया जा सकता है इससे विद्यार्थी जीवन में होने वाले कई प्रकार के बदलाव की ओर जातक हमेशा सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ता है जिससे छात्र जीवन में उसे अनेक प्रकार की अनुभूतियों की प्राप्ति होती है जो आगे चलकर उसके आगामी जीवन को बहुत ही अनुकूल रूप से प्रभावित करती है।

 

विभिन्न चीजों के प्रति सोचने समझने की दृष्टिकोण में परिवर्तन होता है तथा विभिन्न विषयों के अध्ययन में गहन रुचि बढ़ती है जिससे उसके ज्ञान में प्रखरता आती है उसकी बुद्धि -विवेक में प्रखरता आती है यह उसके सर्वांगीय विकास में सहायक होता है उसके साहस पूर्ण व्यक्तित्व के निर्माण में सहायक होता है उसके आवरण को यह पूरी तरह से सकारात्मक स्वरूप में बदलने की क्षमता रखता है।

इसे भी पढ़ें – स्फटिक की माला के 10 चमत्कारी फायदे

 

इसे भी पढ़ें – काले जादू से रक्षा, सभी मनोकामना पूर्ति हेतु एवं जीवन में शांति हेतु धारण करें मूंगा रत्न 

4. ऐसे लोग जिनका जीवन अभाव में गुजर रहा है या सांसारिक सुखों का अभाव है उन्हे छह मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे विभिन्न प्रकार के सांसारिक सुख संसाधनों की प्राप्ति होती है उनके भौतिक सुख में वृद्धि होती है इसके साथ ही छह मुखी रुद्राक्ष उनके व्यक्तित्व को आकर्षक पूर्ण बनाता है विभिन्न प्रकार के सांसारिक समस्याओं को दूर करने में सक्षम होता है।

 

5. ऐसे जातक जिनके जीवन में प्रेम संबंधों का अभाव है या जिनकी वैवाहिक जीवन की स्थिति दयनीय हो चुकी है जिनके जीवन में वैवाहिक सुखों की बहुत ही कमी हो चुकी है या उनके दांपत्य जीवन में कई प्रकार की समस्याएं चल रही है जिससे आए दिन कलह क्लेश उनके रिश्तो के बीच और अधिक दूरियां उत्पन्न कर रहा है।

 

जिससे विवाह विच्छेद जैसी समस्या भी उत्पन्न हो रही है तो ऐसे लोगों को 6 मुखी रुद्राक्ष (6 mukhi rudraksh ke labh) अवश्य धारण करना चाहिए इससे रिश्तो में उपयुक्त रूप से सामंजस्य बिठाने में यह बहुत ही कारगर सिद्ध होता है।

 

यह जीवन साथी के साथ उपयुक्त औचित्य बैठाने में सक्षम होता है जिससे दांपत्य जीवन की खुशियां लौट आती है एवं जोड़ों में प्रगाढ़ प्रेम उत्पन्न होता है जिससे उनके वैवाहिक जीवन की स्थिति में सुधार होने लगता है तथा विवाह विच्छेद जैसी समस्या पूर्ण रूप से नष्ट हो जाती है ।

इसे भी पढ़ें :- टोना टोटका क्या होता है, टोना टोटका हटाने का उपाय ?

इसे भी पड़ें :- सियार सिंगी क्या है इसके चमत्कारी टोटके और कहां मिलता है ?

इसे धारण करने वाले जातक को न केवल वैवाहिक जीवन में अच्छे लाभ की प्राप्ति होती है बल्कि विभिन्न क्षेत्र में भी इसके उत्तम प्रभाव देखने को मिलते हैं।

 

6. छह मुखी रुद्राक्ष विभिन्न प्रकार के मानसिक संताप को दूर करने में सक्षम होता है तथा हमारी इंद्रियों पर नियंत्रण प्राप्त करने में बहुत ही सहायक सिद्ध होता है ऐसे लोग जिनके मन में बहुत अधिक मानसिक उथल-पुथल मची रहती है।

 

यह अनावश्यक चिंताएं रहती है उन्हें 6 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए इससे उनके आचार – विचार में परिवर्तन देखने को मिलता है उन्हें जीवन के प्रति औचित्य दृष्टिकोण की प्राप्ति होती है मानसिक तथा शारीरिक रूप से जातक बलिष्ठ होता है एवं उसकी बुद्धि विवेक में प्रखरता आती है।

 

यह उसके ज्ञान के दायरे को और अधिक बढ़ाने में मदद करता है तथा चीजों को समझने में उनके तथ्यों को आत्मसात करने में भी छह मुखी रुद्राक्ष बहुत ही सहायक होता है।

 

7. 6 मुखी रुद्राक्ष (mukhi rudraksha pehne ke fayde) में भगवान कार्तिकेय की शक्तियां समाहित होती है इसलिए जिस भी व्यक्ति विशेष के द्वारा इससे धारण किया जाता है उसमें साहस एवं इच्छाशक्ति मजबूत होती है तथा उसे विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में विजय प्राप्त होती है।

इसे भी पढ़ें – पन्ना रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और अभिमंत्रित कहाँ से प्राप्त करें ?

 

इसे भी पढ़ें :~ राहु, केतु और शनि ग्रह को शांत करने वाला चमत्कारी रत्न और धारण करने की विधि ?

ऐसे लोग जो कोट कचहरी के मामलों में या जमीन जायदाद के मामलों में विजय प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें यह मन का अवश्य धारण करना चाहिए।

 

8. विभिन्न प्रकार के कलात्मक कौशलों को व्यक्त करने की क्षमता तथा अपने आप को उत्कृष्ट बनाने की क्षमता यह प्रदान करता है शुक्र ग्रह के द्वारा दिए जा रहे किसी भी प्रकार के नकारात्मक प्रभाव को यह दूर करता है तथा उसकी स्थिति को मजबूत बनाकर व्यक्ति विशेष को कई प्रकार के लाभ प्रदान करता है कई प्रकार के औषधीय गुणों से परिपूर्ण 6 मुखी रुद्राक्ष विविध बीमारियों से भी व्यक्ति विशेष को सुरक्षित रखने में सक्षम है।

इसे भी पढ़ें :- पन्ना रत्न धारण करने के फायदे और नुकसान ?

 

इसे भी पढ़ें – कार्यों में सफलता, दांपत्य सुख एवं सभी सुखों की प्राप्ति हेतु पहनें ओपल रत्न

अभिमंत्रित 6 मुखी रुद्राक्ष कहां से प्राप्त करें – 6 rudraksha benefits in hindi

 

मित्रों यदि आप चाहें तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से अभिमंत्रित 6 मुखी रुद्राक्ष प्राप्त कर सकते हैं, जो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र में अभिमंत्रित मात्र – 350₹ में मिल जाएगी, 22 MM की साइज और नेपाली दाना दिया जाएगा, लैब सर्टिफिकेट और गारंटी कार्ड साथ में दिया जाएगा साथ ही साथ मुफ्त में अभिमंत्रित भी करके दिया जाएगा – Call and Whatsapp – 7567233021

 

इसे भी पढ़ें – सफेद पुखराज के 10 चमत्कारी फायदे –

 

इसे भी पढ़ें – राजनीति में अपार सफलता, लक्ष्य की प्राप्ति, मान सम्मान एवं उच्च पद की प्राप्ति हेतु पहनें माणिक्य रत्न

Leave a Reply