हरा हकीक के फायदे – Haraa Hakik Ke Fayde

हरा हकीक के फायदे – Haraa Hakik Ke Fayde

 

हरा हकीक के फायदे-

1. हरा हकीक धारण करने से जातकों का संचार तंत्र के ऊपर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है, तथा जातक का संचार तंत्र बहुत उत्तम होता है, जिसकी वजह से किसी भी व्यक्ति से जुड़ने में जातक को बहुत आसानी होती है, एवं उसके बातों का लोगों के ऊपर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है, लोग उसके बातों से इतने प्रभावित होते हैं, कि उसके इर्द-गिर्द रहना पसंद करते हैं। अविश्वसनीय संचार तंत्र होने की वजह से जातक के कार्य भी बहुत आसानी से बनते हैं, तथा लोगों की नजर में जातक की छवि बहुत ही उत्तम होती है, हर कोई उसे मान सम्मान की दृष्टि से उसके वाणी से मोहित होकर देता हैl उसके विचारों से मोहित होकर उसे ऊंचा पद प्रतिष्ठा प्रदान करता है, ऐसे जातक को समाज में भी खूब सहयोग प्राप्त होता है, तथा घर परिवार के लोगों से भी सम्मान की प्राप्ति होती है।

इसे भी पढ़े:- गोमेद रत्न धारण करने की विधि 

2. हरे हकीक का प्रभाव इतना उत्तम होता है, कि जातक का स्त्री वर्ग के साथ व्यवहार बहुत ही उत्तम होता है lस्त्री वर्ग का जातक बहुत अधिक मान सम्मान करता है, जिसकी वजह से उसके जीवन में धन संपदा की कभी भी कमी नहीं रहती है, मां लक्ष्मी की कृपा दृष्टि स्वयं जातक के ऊपर रहती है, एवं आय के नए नए स्रोत उसे धन संचय के अधिक योग प्रदान करते हैं।

3.हरा हकीक जीवन को संतुलित करने में बहुत मदद करता है। विभिन्न प्रकार के त्रुटियों को दूर करने में अद्भुत क्षमता रखता है।

4. इसे धारण करने से स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान होता है, तथा शरीर में रक्त का संचरण व्यवस्थित करता है, एवं विभिन्न प्रकार के रोग जैसे -मिर्गी ,स्त्री संबंधित रोग, वाणी दोष ,हकलाना कटु वचन जैसी चीजों में धीरे-धीरे सुधार करता है।

इसे भी पढ़े:- मोती रत्न कैसे धारण करें 

5. हरे रंग का हकीक की यह खासियत होती है, कि जिस प्रकार इसका रंग प्राकृतिक रंग की तरह होता हैl इसमें भी हीलिंग पावर होता है, तथा इसका प्रयोग बहुत से लोगों के द्वारा उनकी मानसिक स्थिति को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है lकई जातक कैसे होते हैं, जिनके जीवन में ऐसी ऐसी घटनाएं घट जाती है, जिनसे उबर पाना थोड़ा मुश्किल होता है, तथा समय के साथ वह घाव नासूर के समान हो जाता है, जिसके जातक का पूरा जीवन कष्ट में होने लगता है lवह सांसारिक चीजों से खुद को दूर करने लगता है, एवं दुख पीड़ा में डूबा रहता है, अनायास ही चिंता में खोया रहता है।

कभी-कभी कुछ लोग अपने प्रिय जनों को खोने के पश्चात जीना ही भूल जाते हैं, एवं उनकी जिंदगी जिंदा लाश की तरह हो जाती हैl केवल सांसे चलती है, किंतु उनमें किसी तरह की भावना देखने को नहीं मिलती है, वे लोग पूरी तरह से भावना हीन हो जाते हैं, वे लोग पूरी तरह से जीवन के प्रति निरस हो जाते हैं, ऐसे में यह रत्न किसी वरदान से कम नहीं होता है, इसलिए इसका प्रयोग उपचारात्मक जैसे चीजों में किया जाता है, इस रत्न के प्रभाव से धीरे-धीरे ही सही किंतु उनमें जीने की आस जगती है, तथा जीवन के प्रति एक आशा की किरण यह रत्न जगाने में सक्षम होता है।

इसे भी पढ़े:- मूंगा रत्न पहनने की विधि 

6. इस रत्न को धारण करने से रचनात्मक कौशल का निर्माण होता है, तथा कलात्मक कौशलों का भी निर्माण होता है, जिससे जातक विभिन्न प्रकार के चीजों में रुचि रखता हैl जैसे -कला का क्षेत्र हो या नृत्य का या लेखनी का या चित्रकारी का आदि lइन सभी गुणों में पारंगत होने की पूरी चेष्टा करता है, तथा उसे सफलता भी प्राप्त होती है, एवं यह रत्न उसमें विद्मान गुप्त कौशलों का निर्माण करता है lउसमें और अधिक निखार लाता है, जिसका प्रयोग जातक अपने धन उपार्जन के लिए भी करते हैं।

7. हरे रंग का हकीक बुध ग्रह से संबंधित विभिन्न प्रकार के विशिष्ट मंत्रों को सिद्ध करने के लिए उपयोग में लाया जाता है, या फिर तंत्र विद्या में भी इसका प्रयोग किया जाता है, हरे रंग का हकीक की माला का प्रयोग राहु के मंत्रों को भी सिद्ध करने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

8. हरे हकीक की यह खासियत होती है, कि शनि ग्रह केतु एवं राहु के द्वारा दिए जा रहे हैंl दुष्प्रभाव को यह पूरी तरह से निष्फल करने की क्षमता रखता है, तथा उनकी स्थिति को भी जातक की जन्मपत्रिका में सुधारने की कोशिश करता हैl शनि ग्रह राहु केतु पापी एवं क्रूर ग्रहों की श्रेणी में आते हैं, तथा इनके द्वारा दिए जाने वाले फल बहुत विध्वंसक होते हैंl यही कारण है, कि लोग इनसे बचने के लिए तरह-तरह के उपाय करते हैंl उनमें से एक उपाय है, हकीक को धारण करना, जिससे इनकी कृपा जातक को प्राप्त होती है, एवं प्रसन्न होकर जातक के जीवन में अनेक रूप से उसे यह ग्रह लाभ प्रदान करते हैं।

इसे भी पढ़े:- पीताम्बरी नीलम के 10 चमत्कारी फायदे 

9. कहते हैं, हकीक की माला का प्रयोग करने से केवल ग्रह नक्षत्र ही नहीं स्वयं भगवान शिव शंभू भोलेनाथ का भी जातक को कृपा प्राप्त होता है, तथा विभिन्न प्रकार के दोस इसे धारण करने से स्वयं ही नष्ट हो जाते हैं।

10. मानसिक संतुलन को प्राप्त करने के लिए तथा विभिन्न प्रकार की मानसिक परेशानियां जैसे मानसिक अवसाद, अनिद्रा, मानसिक तनाव जैसी स्थिति से बाहर निकलने के लिए इस रत्न को धारण करना बहुत उपयोगी सिद्ध होता हैl यह रत्न ना केवल मानसिक चिंताओं से जातक को मुक्त रखता है, बल्कि अनिद्रा जैसे घातक रोग को भी यह ठीक करने की क्षमता रखता है, इसके साथ साथ बुरे एवं डरावने सपने आना इन सभी चीजों को भी यह रत्न दूर करने की क्षमता रखता है, अच्छी नींद जातक के चित को शांत एवं प्रसन्न रखने में बहुत कारगर सिद्ध होता है।

11. अध्यात्म की दृष्टि से भी हरे हकीक का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है, मन से नकारात्मक विचारों को दूर कर सकारात्मक विचार का संचार बढ़ा देता है।

यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ हरा हकीक माला प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ हरा हकीक मात्र – 50₹ में मिल जायेगी जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा (Delevery Charges free) Call and WhatsApp on- 7567233021

 

Leave a Reply