काले हकीक के चमत्कारी उपाय – Kale Hakik ke Chamatkari Upay

काले हकीक के चमत्कारी उपाय – Kale Hakik ke Chamatkari Upay

 

काले हकीक के चमत्कारी उपाय :- Kale

 Hakik ke Chamatkari Upay

1.काले हकीक (kale hakik ke chamatkar bataiye) की मदद से आप अपने जीवन के सबसे प्रमुख समस्या का समाधान भी प्राप्त कर सकते हैंl कोई ऐसी समस्या है, जिसका निवारण आप बहुत समय से चाह रहे हैं, किंतु वह समस्या दिनोंदिन बढ़ती चली जा रही है, तथा मानसिक चिंताएं अबकी बढ़ाने में वह बहुत अधिक सक्रियता के साथ चल रही है, तो ऐसे में आपको चाहिए कि आप भगवान बजरंगबली के शरण में जाए।

इसे भी पढ़े:- फिरोजा रत्न के अदभुत फायदे जानकर हैरानी 

इसके लिए आपको सबसे पहले एक असली काले हकीक का चयन करना होगाl उसके बाद आप मंगलवार के दिन खासकर शुक्ल पक्ष के समय या रामनवमी के दिन या हनुमान जयंती के दिन या पूर्णिमा के दिन या अमावस्या के दिन इस प्रकार का प्रयोग करना आपके लिए बहुत ही अच्छे भाव को प्राप्त करने वाला रहेगा सर्वप्रथम उपर्युक्त में से किसी भी दिन का चयन करने के बाद आप ब्रह्म मुहूर्त में उठें,उसके बाद एक हकीक पत्थर  या आप चाहें, तो पूरा का पूरा माला ही जो काले हकीक (kale hakik ke chamatkari fayde) से निर्मित हैl उसे ले ले उसके बाद उसे गंगाजल से शुद्ध करके उसे कुछ देर के लिए ब्रास एवं काली मिर्च एवं लॉन्ग का धूआ करें और इस धूआ को काले हकीक को लगाए, उसके बाद आप लाल आशनी लगाकर एवं असली गाय का शुद्ध घी से एक दीपक प्रज्वलित करें एवं आटा जी एवं गुण से हलवा बनाकर बजरंगबली को अर्पित करें।

इस प्रयोग को करने वक्त इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आपके द्वारा धारण किए जाने वाला वस्त्र बिल्कुल भी काला ना हो आप चाहे तो पीले रंग का वस्त्र या लाल रंग का वस्त्र धारण कर सकते हैं, उसके बाद 10 मिनट तक प्राणायाम करें और चित जब शांत हो जाए तब किसी भी मुद्रा का प्रयोग करते हुए आप एक हाथ से मुद्रा लगाएं तथा दूसरे हाथ से हकीक की माला (hakik mala ke fayde) को पकड़े एवं उस हकीक की माला की सहायता से आप रामनाम का जाप कम से कम 5 बार माला करें lउसके बाद हनुमान जी का विशिष्ट मंत्र जोकि निम्नलिखित वर्णित हैl उसका जाप कम से कम 11 माला करना हैl आपके द्वारा भगवान को भोग लगाया गया हलवा जब पूजा समाप्त हो जाए lतब आप अपने घर परिवार के सदस्यों के साथ साथ कुछ अंश कव्वे चिड़ियों को भी दे किंतु बाहर के लोगों को यह प्रसाद वितरण नहीं कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े:- सुलेमानी हकीक धारण करने की विधि 

आप इस क्रिया को लगातार यदि 11 दिनों तक करते हैं, तो आप इसके चमत्कारिक प्रभाव को हो सकता है, कि बहुत जल्द देख पाए यह भी संभव है, कि इस क्रिया को करने के बाद दूसरे दिन से ही आपको इसके प्रभाव नजर आने लगे किंतु इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि जब भी आप किसी कार्य के बारे में सोचते हैं या कार्य को करने के लिए कोई ठोस कदम उठाते हैंl तब कोई न कोई विघ्न बाधा उत्पन्न हो जाती है, जिसे आप अपने कार्य में सफल ना हो पाए, इसलिए इस क्रिया को करते वक्त अपनी दृढ़ इच्छा संकल्प को मजबूत रखने की आवश्यकता पड़ेगीl

छोटी-मोटी परेशानियां तो आपके इस प्रयोग के समक्ष उत्पन्न होगी ही किंतु, आप अपने इष्ट के प्रति पूर्ण श्रद्धा बनाए रखें हो सकता है, कि कोई घटना आपकी परीक्षा के लिए घटित हो रही हो इसलिए किसी भी तरह से इस क्रम में आपको विचलित नहीं होना हैl अपने आराध्य श्री हनुमान जी पर पूर्ण श्रद्धा बनाए रखें,आप इसके मिलने वाले फलों से आश्चर्यचकित हो जाएंगे,यह प्रयोग हर कोई कर सकता है, जो चाहता है, कि कोई विशिष्ट समस्या का समाधान जल्द से जल्द हो जैसे किसी को नौकरी की समस्या है, या किसी का व्यवसाय अच्छा नहीं चल रहा है।

इसे भी पढ़े:- स्फटिक श्री यंत्र के अदभुत फायदे 

किसी को कार्यक्षेत्र में बहुत अधिक अवरोध देखने को मिल रहे हैं, या कोई ऐसा व्यक्ति है, जिसके जीवन में शत्रुओं की संख्या दिनों दिन बढ़ती चली जा रही है, या कोई ऐसा है, जो अपने जीवन को व्यवस्थित नहीं कर पा रहा है, या सुचारू रूप से चलाने में बिल्कुल क्षम्य में नहीं है, या कोई चाहता है, कि वह हनुमान जी के समान गुढ विद्या का रहस्य प्राप्त कर सके या कोई प्रतियोगिता परीक्षा संबंधित चीजों में सफलता प्राप्त करना चाहता है, या केवल श्री हनुमान जी के कृपा को प्राप्त करना चाहता है, तो ऐसे में उसे यह प्रयोग अवश्य करके देखना चाहिए बस इस प्रयोग को करते वक्त जितना हो सके उतना अधिक सात्विक दृष्टिकोण बनाए रखें तथा मांस मदिरा का सेवन से बचें ब्रम्हचर्य पालन करना बहुत आवश्यक हैl इसके लिए आपको अश्विनी एवं वज्रोली मुद्रा का प्रयोग करना चाहिएl

किसी भी स्थिति में ब्रम्हचर्य नहीं टूटना चाहिए, जब 11 वा दिन पर यह क्रिया पूर्ण हो तब आपको किसी साधु संत को भोजन अवश्य कराना चाहिए या उन्हें इच्छा अनुसार कुछ दान दक्षिणा या फल अवश्य प्रदान करें एवं उनका आशीर्वाद लेl यदि आसपास बंदर दिखे तो उन्हें गुड़ और चना अवश्य खिलाएं एवं उनका आशीर्वाद लें आप देखेंगे कि कैसे आपके जीवन की समस्याएं खत्म हो रही है lएक सकारात्मक बदलाव का आवरण आपके जीवन के सार्थक प्रयास को और अधिक गति प्रदान कर रहा हैl सभी चीजें पूर्ण रूप से व्यवस्थित होती चली जाएंगी एवं आपका जीवन सुखी एवं संपन्न होने लगेगाl

llॐ महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते। हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्ययेll

इसे भी पढ़े:- लाजवर्त स्टोन के फायदे 

2. अष्ट महालक्ष्मी के आशीर्वाद को प्राप्त करने के लिए भी यह पत्थर बहुत ही चमत्कारी माना जाता हैl माता लक्ष्मी के सर्वस्व आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए आपको काले हकीक की माला (hakik mala ke labh) से माता लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करना चाहिए, तथा आप चाहें तो इसे सिद्ध करके अपने कार्यस्थल या तिजोरी में भी रख सकते हैं, इससे धन का प्रवाह सदा बना रहता है एवं आर्थिक क्षति की संभावनाएं पूर्ण रूप से निम्न हो जाती हैl

3. जिन लोगों पर तंत्र मंत्र की क्रियाएं बहुत अधिक गतिमान है, या नजर दोष संबंधित चीजें बहुत अधिक सक्रिय रूप से प्रभावित करती है, ऐसे लोगों को काले हकीक का पत्थर (kale hakik ke Chamatkari Upay) का प्रयोग अवश्य करना चाहिए या उसकी माला को धारण करना चाहिए, इससे उसकी सुरक्षा चक्र की शक्तियां बढ़ती है, तथा नकारात्मक शक्तियां नष्ट होने लगती है, इसलिए उस व्यक्ति के ऊपर ऊपरी बाधा संबंधित चीजें समाप्त होने लगती हैंl

मित्रो यदि आप भी अभिमंत्रित किया हुआ काला हकीक प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित काला हकीक मात्र – 50₹ रत्ती मिल जायेगा जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट और गारंटी के साथ में दिया जायेगा(Delevery charges free) Call and WhatsApp on-7567233021

 

 

Leave a Reply