सफेद पुखराज के नुकसान – Safed Pukhraj Ke Nuksan

सफेद पुखराज के नुकसान – Safed Pukhraj Ke Nuksan

 

 सफेद पुखराज के नुकसान

सफेद पुखराज के नुकसान जानने के पश्चात ही लोगों को यह रत्न धारण करना चाहिए क्योंकि कभी-कभी लोगों के सफेद पुखराज द्वारा ऐसा भी किया जाता है, कि केवल सुनी सुनाई बातों में आकर वह कोई भी रत्न धारण कर लेते हैं, और सोचते हैं, कि उन्हें भी वही सारी सुख ,सुविधाओं की प्राप्ति होगी जो औरों को इस रत्न को धारण करने से प्राप्त हुई है, या कभी-कभी ऐसा भी संभव है, कि कुछ मांगलिक कार्यों पर हमें बहुत से लोगों के द्वारा विभिन्न प्रकार के उपहारों में एक उपहार के रूप में सफेद पुखराज से निर्मित कोई आभूषण प्राप्त होता है, और अनजाने में हम इसे धारण कर लेते हैं, क्योंकि यह देखने में इतना आकर्षक होता है, कि शायद ही इस के आकर्षण से कोई बच पाए किंतु धीरे-धीरे जब हमारे जीवन में परेशानियां आने लगती है, तब हमारा ध्यान इस की ओर जाता है, कि कहीं इसी की वजह से तो हमारे जीवन में नुकसान तो नहीं हो रहा है, जो कि विभिन्न प्रकार के रत्न सृष्टि में मौजूद हैl

इसे भी पढ़िए:- मोती रत्न किसे पहनना चाहिए 

 विभिन्न प्रकार के पत्थर संसाधन के रूप में इस सृष्टि में विधमान है, किंतु यह सारे संसाधन हर किसी के ऊपर अपना अच्छा प्रभाव नहीं दिखाते हैं। कभी-कभी इनका प्रभाव लोगों को दिन में तारे भी दिखा देता हैl यह जब अपनी पूरी प्रकाष्ठा पर आए तो आपका जीवन खुशियों से परिपूर्ण रहता है lआपके जीवन में किसी भी चीज की कमी नहीं रहती है, किंतु जब यह रत्न जिस भी ग्रह से संबंधित होते हैं, lयदि रुष्ट हो जाए तो ऐसी स्थिति में आप के ऊपर अनगिनत परेशानियों का मार पड़ने लगता है, तथा आप चारों ओर से परेशानियों में फस जाते हैं l अतः कोई भी रत्न हो उस से निर्मित कोई भी आभूषण हो, पहले अपनी कुंडली की अच्छी से जांच पड़ताल कराने के पश्चात ही आप उसे धारण करें क्योंकि यदि वह आपकी कुंडली में अच्छे स्थान पर या अच्छे भाव में अवस्थित नहीं है, तो उसके परिणाम आपको नकारात्मक ही मिलेंगे।

सफेद पुखराज रत्न शुक्र ग्रह से संबंधित होता है, तथा इसमें शुक्र ग्रह की अद्भुत शक्तियों का समावेशन होता है lइसमें शुक्र ग्रह से संबंधित विभिन्न प्रकार की अलौकिक शक्तियां विद्यमान रहती है lयह रत्न शुक्र ग्रह की शक्तियों को अवशोषित करने की क्षमता रखता है, तथा आपके भाग्य को बदलने में यह रत्न बहुत कारगर होता हैl यह एक अनमोल रत्न है, यह एक बहुमूल्य रत्न है जो देखने में बिल्कुल सफेद वर्ण का होता है, बिल्कुल चंद्र की किरणों के समान ,स्पष्ट रूप से दिखने वाला सफेद ,बिल्कुल खिर के जैसे रंग का सफेद ,बिल्कुल हीरे के रंग के समान सफेद ,हंस के रंग के समान इसका वर्ण श्वेत होता है। सफेद रंग की चीजों का संबंध शुक्र ग्रह से माना जाता है, विभिन्न भाषाओं में इसे अलग अलग नाम से पुकारा जाता है।

इसे भी पढ़े:- पन्ना रत्न पहनने का मंत्र 

 शुक्र ग्रह को वैभव एवं विलासिता का स्वामी माना जाता है, तथा इसे धारण करने वाले लोगों के जीवन में विभिन्न प्रकार के सुख समृद्धि की वृद्धि देखने को मिलती हैl यह रत्न आपके जीवन को परिपूर्ण बनाने में सक्षम होता है। आपके जीवन में वैभव ऐश्वर्य जैसी चीजों की कभी भी कमी होने नहीं देता है। इस रत्न को धारण करने वाले व्यक्ति के जीवन में कभी भी प्रेम की कमी नहीं रहती हैl उसके जीवन में उसे चाहने वाले बहुत से लोग मिलते हैं, उसका दांपत्य जीवन भरा हुआ रहता है, जो भी कटुता उसके दांपत्य जीवन में आई थी उन सभी कटुता को यह रत्न समाप्त कर उसके जगह केवल प्रेम ही प्रेम बरसाता हैl इस रत्न को धारण करने से घर परिवार में संपन्नता छाई रहती हैl घर के लोगों में आपसी प्रेम भावना बनी रहती है, रिश्ते मजबूत होते हैंl

सृष्टि में उपलब्ध विभिन्न संसाधनों में सबसे अनोखा एवं उत्कृष्ट रत्न सफेद पुखराज रत्न को माना जाता है, यह एक अमूल्य रत्न हैl दिखने में पारदर्शी चमकदार आदि होता है, इसकी संरचना बहुत ही संगठित एवं व्यवस्थित होती हैl सफेद पुखराज के संयोजक अल्मुनियम फ्लोरिंग तथा सिलिकेट जैसे खनिज तत्वों से बना हुआ होता हैl सबसे उत्कृष्ट गुणवत्ता वाले पुखराज रत्न ब्राजील तथा म्यानमार देश से पाया जाता हैl इन 2 देशों में उत्कृष्ट गुणवत्ता वाले पुखराज रत्न पाए जाते हैं, इसलिए यहां के पुखराज रत्न की बहुत अधिक डिमांड होती है, बहुत अधिक मांग होती है।

इसे भी पढ़िए:- नीलम रत्न पहनने के अदभुत फायदे 

सफेद पुखराज बिना सोचे समझे धारण करने से उसके बहुत नुकसान भी हो सकते हैं, क्योंकि किस व्यक्ति को कौन सा रत्न धारेगा यह पूरी तरह से उसकी कुंडली पर निर्भर करती है, अतः किसी भी रत्न को धारण करने से पूर्व अपने कुंडली की अच्छे से जांच परख करवाएं अन्यथा इस रत्न को धारण करने से आप निम्नलिखित परेशानियों में फस सकते हैं-

1. जब कभी भी यह रत्न आपको प्रतिकूल प्रभाव दिखाएगा तो आप एकदम से अहंकारी के रूप में परिवर्तित होने लगेंगेl आपका स्वभाव में घमंड वास करने लगेगा। आपकी आभा मंडल से केवल दिखावा का भाव प्रदर्शित होगा, आपके मन में केवल दूसरों को नीचा दिखाने की भावना बढ़ने लगेगी तथा आप दिखावा जैसी चीजों में लिप्त होने लगेंगे। लोगों को कम आंकने लगेंगे। लोगों को उनके रुपयों पैसे या धन संपत्ति को देखकर ही उन्हें मान सम्मान आदि देंगे।

2. इस रत्न के प्रतिकूल परिणाम जब आपके जीवन पर पड़ने लगता है, तब आप अध्यात्मिक चीजों से विमुख होकर केवल विलासिता जैसी चीजों में लिप्त रहने लगते हैं, जिसकी वजह से आपके रुपयों पैसे का क्षरण होने लगता है, बिना सोचे समझे धन खर्च करने लगते हैं तथा आपके जरूरतें दिन प्रतिदिन बढ़ती जाती है। भौतिक वस्तुओं का लोभ आपके मन में बढ़ता ही जाता है, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति बहुत ही दयनीय हो जाती है।

इसे भी पढ़े:- स्फटिक की माला के 10 चमत्कारी फायदे 

3. इस रत्न की वजह से कभी-कभी ऐसा भी होता है, कि आप के रिश्ते टूटने तक की नौबत आ जाती है। तलाक जैसे जघन्य चीजें भी घटित होने लगती है, शादीशुदा जिंदगी में मनमुटाव चलने लगता है, दांपत्य जीवन में दुख ही दुख बढ़ने लगते हैं।

4. कई बार ऐसा भी होता है, कि इस रत्न को धारण करने से आप किसी घातक बीमारी के भी शिकार होने लगते हैं, या लोगों से अलगाव जैसी स्थिति भी पैदा हो जाती है।

अगर आप भी अभिमंत्रित किया हुआ सफेद पुखराज प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित किया हुआ सफेद पुखराज मात्र – 150₹ रत्ती मिल जायेगा जिसका आपको लैब सर्टिफिकेट के साथ में दिया जायेगा Delevery Charges free Call and WhatsApp on- (7567233021)

 

Leave a Reply