8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 8 mukhi rudraksha benefits in hindi

8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 8 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 8 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha ke fayde) सर्वोत्तम लाभ प्रदान करने वाला माना जाता है अष्ट दिशाओं का स्वामी अपने अंदर अद्वितीय ऊर्जा का स्रोत समाहित किए हुए रहता है इसे धारण करने से जीवन में आ रही विभिन्न प्रकार की समस्याओं से निवारण प्राप्त होता है इसके साथ ही विघ्नहर्ता भगवान गणेश का भी आशीर्वाद बना रहता है ।

 

जिससे जातक का बुद्धि – विवेक सुचारू रूप से काम करता है एवं रोजमर्रा के जीवन में आने वाले अनेक प्रकार की समस्याओं का समाधान प्राप्त करने में जातक स्वयं सबल बनता है।

इसे भी पढ़ें :- शनि ग्रह क्या है और शनि की महादशा, ढैया और साढ़ेसाती से कैसे बचें ?

इसे भी पढ़ें :- शाही का कांटा क्या है ? इसका प्रयोग और कहां से खरीदें ?

8 Mukhi rudraksh ke labh, 8 mukhi rudraksha benefits in hindi, 8 mukhi rudraksha ke fayde, 8 mukhi rudraksha ke fayde in hindi, 8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे, 8 मुखी रुद्राक्ष के बारे में बताइए, 8 मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे, 8 मुखी रुद्राक्ष पहनने से क्या होता है, 8 मुखी रुद्राक्ष बेनिफिट्स इन हिंदी
8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे

8 मुखी रुद्राक्ष के फायदे – 8 mukhi rudraksha benefits in hindi

 

• भगवान गणेश की कृपा से केतु ग्रह जिसे छाया ग्रह के रूप में जाना जाता है उत्तम अवस्था में रहता है जिससे उदासीनता का भाव हमारे जीवन से समाप्त होता है एवं हमारे कर्मों में उत्तम बदलाव देखने को मिलता है तथा हमें अद्वितीय अनुभूतियों की प्राप्ति होती है मोक्ष को प्राप्त करने के लिए सबसे बड़ा कारक केतु ग्रह को माना जाता है

 

ऐसे लोग जो आध्यात्मिक प्रवृत्ति के होते हैं तथा प्रभु भक्ति अपने इष्ट के लिए उनका जीवन समर्पित करते है ऐसे लोगों के लिए 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha benefits in hindi) स्वयं भगवान का वरदान है ।

इसे भी पढ़ें – मोती की माला के 20 चमत्कारी फायदे – जान कर हो जायेंगे हैरान

 

इसे भी पढ़ें – कार्यों में सफलता, व्यापार में वृद्धि एवं सभी परेशानियों से छुटकारा हेतु धारण करें पीताम्बरी नीलम 

इसे धारण करने से उनके द्वारा किए जा रहे किसी भी प्रकार की साधना या मंत्र सिद्धि जल्द ही फलित होने लगती हैl यह उनके द्वारा किए जा रहे उपवास के दौरान किसी भी प्रकार के ऐसे तत्वों का निर्माण नहीं होने देता जिससे किसी भी तरह का उनके द्वारा किया गया पूजा – पाठ या धार्मिक चीजों में व्यवधान उत्पन्न नहीं होता है तथा उसकी अखंडता उसकी गरिमा पर दाग नहीं लगते हैं।

 

1. इसमें मौजूद कई ऐसे औषधीय तत्व होते हैं जो अनेक प्रकार की बीमारियों को दूर करने की क्षमता रखते हैं छय रोग आंखें या कमर से संबंधित रोग खासी आदि।

 

2. ऐसे लोग जिनके जीवन में पारिवारिक क्लेश के कारण प्रगति रुक गई है घर परिवार में केवल लड़ाई- झगड़े का कलेस का माहौल रहता है तथा ससुराल पक्ष से संबंधों में बहुत अधिक असमंजस की स्थिति बनी रहती है lजिसके कारण परिवार विघटन या दांपत्य की विच्छेदन जैसी प्रक्रिया चल रही है तो ऐसी स्थिति में उन्हें 8 मुखी रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए

 

इससे उनके जीवन से इस प्रकार की समस्याओं का निर्गमन होने लगता है तथा वैवाहिक जीवन का आनंद प्राप्त होता है एवं ससुराल पक्ष से संबंधों में मधुरता आती है विश्वास एवं खुशहाली आती है तथा ससुराल पक्ष का साथ भी प्राप्त होता है।

इसे भी पढ़ें :- बच्चे को नजर से बचाने के 15 जबरदस्त उपाय ? 

इसे भी पढ़ें :- सांप की केंचुली क्या है, इसके फायदे, लाभकारी टोटके और कहां से खरीदें ?

3. ऐसे लोग जिनके जीवन में आ प्राकृतिक बाधाएं बहुत अधिक आ रही है और ऊपरी बाधाओं का चक्रण में उसका जीवन पूरी तरह से विकृत हो चुका है ऐसे लोगों को 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha ke fayde) अवश्य धारण करना चाहिए पाप ग्रह राहु केतु द्वारा निर्मित कई प्रकार के खत्म होते हैं।

 

जिससे ऊपरी बाधा संबंधित चीजों से मिलता है इससे संबंधित होने वाले किसी भी प्रकार की समस्या का निवारण 8 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से होता है इसके साथ ही यह उनके सुरक्षात्मक तंत्र को भी मजबूत बनाता है।

 

4. राहु जिसे आकस्मिक ग्रह की उपाधि दी जाती हैl यह जीवन में घटने वाले आकस्मिक बदलाव का कारक माना जाता है तथा यदि इस की प्रवृत्ति लग्न पत्रिका में निम्न हैl तो ऐसे में व्यक्ति विशेष को कई प्रकार की आकस्मिक दुर्घटनाओं का शिकार बनाता है।

 

आकस्मिक चीजें इतनी अधिक व्यापक रूप से घटती है कि जातक को संभलने का मौका तक नहीं मिलता है एक के बाद एक क्रमागत रूप में अनेक प्रकार के व्यवधान उसके जीवन में आने लगते हैं तथा उसका जीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त त्रस्त हो जाता है।

 

ऐसे में 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha ke fayde hindi) राहु के द्वारा उत्पन्न किए जाने वाले आकस्मिक दुर्घटनाओं से व्यक्ति विशेष की रक्षा करता है तथा उसके जीवन में घटित होने वाली घटनाओं के प्रति दूरदर्शिता उत्पन्न करता है जिससे जातक आगामी भविष्य में घटने वाली घटनाओं के प्रति पहले से ही सार्थक रूप से रक्षात्मक प्रणाली अपनाता है तथा एवं सब्बल होकर चलता है।

इसे भी पढ़ें – स्फटिक की माला के 10 चमत्कारी फायदे

 

इसे भी पढ़ें – काले जादू से रक्षा, सभी मनोकामना पूर्ति हेतु एवं जीवन में शांति हेतु धारण करें मूंगा रत्न 

5. ऐसे लोग जो राजनीतिक सफलता प्राप्त करना चाहते हैं या जिन्हें वाकपटुता जैसी संबंधित चीजों में महारत हासिल करनी है वाक् सिद्धि करना चाहते हैं ऐसे लोगों के लिए 8 मुखी रुद्राक्ष सबसे उपयुक्त माना जाता है यह उनके संचार तंत्र उत्कृष्टता प्रदान करता है।

6. अकाल मृत्यु जैसे भय से व्यक्ति विशेष को यह सुरक्षा प्रदान करते हैं।

7. इसे धारण करने वाले व्यक्तियों को विलक्षण प्रतिभा एवं विलक्षण कौशलों की प्राप्ति होती है विद्यार्थी वर्ग के लिए इसे बहुत ही विशिष्ट माना जाता है इसे धारण करने से उनकी एकाग्रता शक्ति मजबूत होती है तथा तर्क वितर्क की शक्ति में भी अप्रतिम रूप से अनुकूल परिवर्तन देखने को मिलता है।

 

यह उनके व्यक्तित्व में अद्वितीय रूपांतरण की क्षमता रखता है इससे उनकी स्मृति मजबूत होती है तथा आत्मविश्वास संबंधित चीजों में भी उत्तम परिणाम देखने को मिलते हैं मानसिक एकाग्रता एवं जागृत चेतना प्राप्ति के लिए भी यह बहुत ही उपयोगी माना जाता है यह उनकी योग्यता को बढ़ाता है तथा प्रतिभा को और अधिक निखारने में मदद करता है।

 

8. ऐसे लोग जिनकी सहभागिता किसी भी तरह के व्यवसाय में है जो अपने जीविकोपार्जन में उत्तम लाभ की प्राप्ति करना चाहते हैं उन्हें 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha ke fayde) अवश्य धारण करना चाहिए या उनके कार्यक्षेत्र में उत्पन्न होने वाले विभिन्न प्रकार से परेशानियों को दूर करता है तथा उनके शामर्थय में वृद्धि करता है जिससे उनके कार्य कुशलता बढ़ती है तथा अपने कार्य क्षेत्र में उचित पद प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है तथा सामाजिक तौर पर भी उन्हें ख्याति एवं प्रसिद्धि की प्राप्ति होती है।

इसे भी पढ़ें :- टोना टोटका क्या होता है, टोना टोटका हटाने का उपाय ?

इसे भी पड़ें :- सियार सिंगी क्या है इसके चमत्कारी टोटके और कहां मिलता है ?

9. 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha ke fayde hindi) धारण करने से बाबा भैरव की कृपा बनी रहती है बाबा भैरव जिनकी शक्तियों से जिनकी प्रत्यक्षता से नकारात्मक चीजें सौ कोस दूर भागती है जिसके कारण किसी भी तरह की ऊपरी बाधा शत्रु बाधा जैसी चीजें व्यक्ति विशेष को प्रभावित नहीं कर पाती है बाबा भैरव की कृपा से तो स्वयं काल भी डरता है।

 

ऐसे में किसी तरह की जादू -टोना या नकारात्मक व्यक्तियों के द्वारा उत्पन्न किए गए षड्यंत्र आदि को भी यह पूरी तरह से निष्फल करने की क्षमता रखता है उसके पास में आने वाले विभिन्न प्रकार के व्यवधानओं को भी यह पूरी तरह से नष्ट कर देता है तथा व्यक्ति विशेष को प्रगति उन्नति प्रदान करता है उसे हर क्षेत्र में धन यश कृति की प्राप्ति होती है ऐसे लोग जिनका गण कमजोर है।

 

जिसके कारण छाया ग्रह का प्रभाव बहुत रहता है ऐसे लोगों के लिए 8 मुखी रुद्राक्ष (8 mukhi rudraksha benefits in hindi) रामवान से कम नहीं है।

इसे भी पढ़ें – पन्ना रत्न क्या है, इसके चमत्कारी फायदे और अभिमंत्रित कहाँ से प्राप्त करें ?

 

इसे भी पढ़ें :~ राहु, केतु और शनि ग्रह को शांत करने वाला चमत्कारी रत्न और धारण करने की विधि ?

 

अभिमंत्रित 8 मुखी रुद्राक्ष कहां से प्राप्त करें – 8 mukhi rudraksha ke fayde

 

मित्रों यदि आप चाहें तो हमारे नवदुर्गा ज्योतिष केंद्र से अभिमंत्रित 8 मुखी रुद्राक्ष प्राप्त कर सकते हैं जो हमारे यहां लैब सर्टिफिकेट और गारंटी कार्ड के साथ मात्र – 2500₹ में मिल जाएगा, लैब सर्टिफिकेट और गारंटी कार्ड साथ में दिया जाएगा साथ ही साथ मुफ्त में हमारे पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित भी करके दिया जाएगा – Call and Whatsapp – 7567233021

Leave a Reply